दादी ने पोते की चाह में दो महीने की पोती की टैंक में डुबाकर की हत्या

राजधानी जयपुर के मुरलीपुरा इलाके में एक कलयुगी दादी की काली और शर्मनाक करतूत सामने आई है. मुरलीपुरा इलाके में एक औरत ने पोता होने की चाहत पूरी नहीं होने पर अपनी दो महीने की पोती की पानी के टैंक में डुबोकर हत्या कर दी. वहीं, हत्या करने बाद लोगों को शक न हो तो, खुद ही पोती को तलाशने का नाटक करने लगी. उसने हो-हल्ला मचाकर पूरी कॉलोनी के लोगों को जमा कर लिया. हालांकि, पुलिस की पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया.

दरअसल, मुरलीपुरा इलाके में रहने वाली आरोपी दादी विमला देवी ने शुक्रवार को अपनी बहू गुड्डी को उसकी ही बेटी दृष्टि (पोती) की हत्या में फंसाने की साजिश रची. पुलिस के अनुसार, शुक्रवार दोपहर को बहू को छत पर कमरे में अलमारी की सफाई करने भेज दिया और खुद कमरे में सोने चली गई. कुछ देर बाद आरोपी दादी ने उठकर दृष्टि का गला दबाकर हत्या करने का प्रयास किया. फिर उसने पकड़े जाने के डर से उसे घर के बाहर रखे पानी के टैंक में पटक कर वापस आकर सो गई. पुलिस ने बताया कि काफी देर तक बहू नीचे नहीं आई तो, आरोपी खुद ही दृष्टि के नहीं मिलने की बात कहकर चिल्लाने लगी.

पुलिस के अनुसार, जब घर में और आस-पास कहीं भी मासूम का पता नहीं चला तो, दादी ने ही लोगों को पानी के टैंक में तलाशने की नसीहत दी. टैंक का ढक्कन खोलते ही लोगों के पैरों तले जमीन खिसक गई. दो माह की दृष्टि का शव टैंक के पानी में तैर रहा था. बताया जा रहा है कि विमला देवी की पोती दृष्टि के होने के बाद से ही बहू गुड्डी से अनबन रहती थी. इसी के चलते दादी विमला ने बहू गुड्डी को उसकी बेटी की हत्या में फंसाने की साजिश रची.

पुलिस के अनुसार, कुछ दिन पहले बहू को फंसाने के लिए खुद के गहने छिपा दिए और बहू पर चोरी करने का आरोप लगाया था. हालांकि, बाद में घर की तलाशी लेने पर गहने मिल गए थे. हत्यारी दादी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ जारी है. घटना की जानकारी के बाद से ही पुलिस को परिवार के किसी सदस्य पर शक था. कड़ी पूछताछ की गई तो, दादी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया.