बढ़ेगी दिल्ली हवाई अड्डा की क्षमता, किया जाएगा 9000 करोड़ रुपये का निवेश

नई दिल्ली: दिल्ली हवाई अड्डे पर करीब नौ हजार करोड़ रुपये के नए निवेश से इसकी क्षमता बढ़ेगी तथा इस हवाई अड्डे से और अधिक संख्या में यात्रों के आवागमन की सुविधा होगी. उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने मंगलवार को यह बात कही. उपराष्ट्रपति दिल्ली हवाई अड्डा के विषय में दो पुस्तकों ‘दी इकोनॉमिक इंपैक्ट ऑफ दिल्ली एयरपोर्ट’ और दिल्ली हवाई अड्डा के 10 साल की यात्रा पर आधारित एक कॉफी टेबल बुक के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे.

Delhi airport will be invested to increase capacity of 9000 crores

नायडु ने कहा कि दिल्ली हवाई अड्डा में क्षमता विस्तार के लिए करीब नौ हजार करोड़ रुपये का निवेश होगा और यहां से प्रतिवर्ष 10 करोड़ यात्रियों के आवागमन की सुविधा होगी. इस अवसर पर नागर विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि दिल्ली हवाई अड्डा से 2018 में सात करोड़ यात्रियों के आवागमन का अनुमान है. यह संख्या कुछ साल में बढ़कर 11 करोड़ के पार हो जाएगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली हवाई अड्डा प्रत्यक्ष तौर पर एक लाख से अधिक लोगों को तथा परोक्ष तौर पर पांच लाख लोगों को रोजगार का अवसर देता है.

IGI airport

आपको बता दें कि दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा वर्ष 2017 में दुनिया का 16 वां सबसे व्यस्ततम हवाईअड्डा रहा. वर्ष 2016 में इस हवाईअड्डे से 6.34 करोड़ लोगों ने यात्रा की. एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल दिल्ली हवाईअड्डे से साल 2016 की तुलना में 14 फीसदी अधिक यात्रियों ने यात्रा की. यात्रियों की इस बढ़ती संख्या के चलते ही दिल्ली हवाईअड्डा सबसे व्यस्ततम हवाईअड्डों में 16 वें स्थान पर पहुंच गया. वर्ष 2016 में दिल्ली हवाईअड्डा दुनिया का 22 वां सबसे व्यस्ततम हवाईअड्डा था. विकासशील देशों में यात्रियों की संख्या 10.3 फीसदी की दर से बढ़ रही है. वहीं आने वाले कुछ देशों में भारत जैसे विकासशील देशों में एविएशन मार्केट के और तेजी से बढ़ने की संभावना जताई जा रही है.