हड़ताली पीएचई कर्मियों की धमकी, पंचायती चुनवों में करेंगे भाजपा का बहिष्कार

पी.एच.ई. विभाग के अस्थायी कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर हड़ताल को जारी रखा हुआ है। सोमवार को जिला सचिवालय में मुख्य सचिव की अधिकारियों के साथ बैठक की जानकारी के बाद वर्करों ने सचिवालय में मुख्य सचिव से भेंट करने का प्रयास किया लेकिन अनुमति न मिलने से गुस्साए कर्मियों ने सचिवालय के बाहर प्रदर्शन किया। इसी बीच पुलिस ने वर्करों को सचिवालय के अ ागे से तत्काल कार्रवाई करते हुए हटा दिया।

वर्करों ने कहा कि सरकार उनकी मांगों को अनदेखा कर रही है। वे यहां इस उम्मीद से आए थे कि अपनी बात को मुख्य सचिव के माध्यम से राज्यपाल तक पहुंचाएंगे लेकिन उन्हें मुख्य सचिव से मिलने की अनुमति नहीं दी गई। एक तरह से तानाशाह रवैया कर्मियों को लेकर अपनाया गया है। उन्होंने भाजपा को कोसते हुए कहा कि भाजपा ने सरकार में रहते हुए भी उनके लिए कुछ नहीं किया जबकि वे आगामी पंचायती चुनावों में भाजपा का पूरी तरह से बायकाट करेंगे। वर्करों ने कहा कि जब तक उनकी मांगों पर गौर नहीं किया जाता, वे संघर्ष से हटने वाले भी नहीं है। उन्होंने वर्करों से अपने हितों, मांगों को लेकर इसी तरह से एकजुटता बनाए रखने का आह्वान किया।