कश्‍मीर: 3 साल की मासूम से बलात्‍कार, घाटी में विरोध प्रदर्शन, राज्‍यपाल ने दिया जांच का आदेश

घाटी के बांदीपोरा में 3 साल की मासूम से बलात्कार की घटना ने घाटी को रोष से भर दिया है. परिवार की शिकायत के अनुसार, इफ्तार से ठीक पहले लड़की के साथ दुष्कर्म किया गया था. मेहबूबा मुफ़्ती ने कहा ऐसे मामलों से निपटने के लिए शरिया कानून बेहतर है. उमर अब्‍दुल्‍ला ने घटना पर गहरा रोष जताया. इधर कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. उन्‍होंने जांच को फास्‍ट ट्रेक के आधार पर करने को कहा है.

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और प्रदर्शनकारी कड़ी सजा की मांग कर रहे हैं. परिवार की शिकायत के अनुसार, इफ्तार से ठीक पहले गांव में लड़की के साथ बलात्कार किया गया था. उसके एक रिश्तेदार ने कहा कि आरोपी ने बच्चे को कैंडी की लालच देकर, उसका अपहरण किया और फिर उसके साथ बलात्कार किया. परिवार के मुताबिक देर शाम तक बच्‍ची घर नहीं लौटी तो उसकी मां गांव में तलाशने लगी. तभी उसे स्कूल से बच्‍ची के रोने की आवाज़ सुनाई दी तब माँ ने बच्‍ची को खून में लथपथ स्कूल के बाथरूम में पाया. इसके बाद परिवार ने स्थानीय पुलिस को सूचित किया.

सुमबल के इस छोटे से गांव त्रिगाम जहाँ शिया समुदाए के लोग ज्‍यादा हैं, प्रदर्शन भड़क उठा. देखते ही देखते यह विरोध उत्तरी कश्मीर से लेकर सेंट्रल कश्मीर और दक्षिणी कश्मीर तक फैल गए. कई जगहों पर हिंसक प्रदर्शन देखने को मिले. दर्जनों प्रदर्शनकारी और पुलिसकर्मी घायल हुए. गांव वाले आरोप लगा रहे हैं कि इसी गावों एक स्कूल प्र‍िंसीपल ने इस आरोपी को डीओबी {डेट ऑफ़ बर्थ} सिर्टिफिकेट बनाई है उसे भी सख्‍त सजा दी जाए.

बच्‍ची के परिजन का कहना है “जिला बांदीपोरा में एक तीन साल की लड़की का एक 21 साल के आदमी ने बलात्कार किया और हम चाहते है की बलात्कारी को ऐसी सजा दी जाये ताकि आने वाले समय में कोई ऐसा गुनाह करने का सोचे भी ना.”