48 घंटों में सुरक्षाबलों ने कश्मीर में आतंकियों के हौसले किये पस्त, मार गिरये 10 उग्रवादी

कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट दहशतगर्दों के हौसले पस्त करने का काम कर रहा है। दो दिनों में ही सुरक्षाबलों ने घाटी में तीन अलग-अलग मुठभेड़ों में दस आतंकियों को मौत की नंद सुला दिया है। हांलाकि इस दौरान आठ स्थानीय लोग भी मारे गये हैं। मारे गये आतंकियों में दो पाकिस्तानी हैं जबकि बाकी के आठ स्थनीय उग्रवादी हैं। इस वर्ष अभी तक 195 आतंकी मरे जा चुके हैं। सुरक्षाबल इसे बड़ी कामयाबी मान रहे हैं।
सोपोर में आज मुठभेड़ के दौरान आतंकी मारे गये। जबकि सेना का एक जवान घायल हो गया। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। सोपोर में किसी भी प्रकार की अफवाह को फैलने से रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है और सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है। पुलिस के एक प्रवक्ता के मुताबिक बारामूला में सोपोर के पाजलपोरा डांगीवाचा में आतंकवादियों के छिपे होने की खुफिया सूचना मिलने के बाद राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), जमू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) तथा केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने आज सुबह एक संयुक्त तलाश अभियान शुरू किया। हालांकि जब सेना के जवानों ने इलाके की घेराबंदी शुरू की तभी छिपे हुए आतंकवादियों ने स्वचालित हथियारों से उन पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं।

सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई के साथ ही मुठभेड़ शुरू हो गयी। आतंकवादियों ने पहले गोलीबारी शुरू की जिसमें सेना का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल जवान को तुरंत एक अस्पताल पहुंचाया गया। इसके बाद सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी मारा गया। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि प्राप्त जानकारी मिलने तक आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। बारामूला जिले के क्रीरी पाट्टन में गुरुवार को सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुयी मुठभेड़ में दो आंतकवादी मारे गये थे। दक्षिण कश्मीर में भी दो अलग-अलग मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गये जबकि सेना का एक जवान शहीद हो गया तथा एक अन्य घायल हो गया।