जम्मू-कश्मीर: कश्मीर: सुरक्षाबलों ने अप्रैल में 26 और इस साल 58 आतंकियों को किया ढेर

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा, कुलगाम और शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में आठ आतंकी ढेर किए गए हैं। पिछले करीब 24 घंटे के भीतर दक्षिणी कश्मीर में सुरक्षाबलों ने आठ आतंकी मार गिराए। अगर बात करें अप्रैल महीने की तो जवान 26 आतंकियों को मार गिराने में सफल रहे हैं। कुल मिलाकर घाटी में तैनात जवान आतंकियों के लिए काल साबित हो रहे हैं। रविवार रात सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि कुलगाम में एक इमारत के अंदर कुछ आतंकी छिपे हुए हैं। इस पर सेना ने आतंकियों को घेर लिया और आत्मसमर्पण के लिए कहा। लेकिन आतंकियों ने खुद को घिरता देख फायरिंग शुरू कर दी। इस पर सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई की और चार आतंकियों को मार गिराया। 

गोरिपोरा गांव में छिपे थे आतंकी 
इससे पहले शनिवार तड़के करीब तीन बजे सुरक्षाबलों को अवंतीपोरा के गोरिपोरा गांव में आतंकियों के छिपे होने की सूचना हाथ लगी थी जिसके आधार पर सेना की 50 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवानों ने इलाके की घेराबंदी करते हुए एक साझा तलाशी अभियान चलाया। इस ऑपरेशन के दौरान आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग की जिसका मुहतोड़ जवाब दिया गया और मुठभेड़ शुरू हुई। करीब चार घंटे तक चली इस मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया गया। इसकी पुष्टि करते हुए जम्मू कश्मीर पुलिस के कश्मीर रेंज के आईजीपी विजय कुमार ने बताया कि मुठभेड़ में दो अज्ञात आतंकी और उनका एक सहयोगी मार गिराया गया है। उन्होंने बताया कि मारे गए आतंकियों से हथियार भी बरामद हुए हैं।

24 घंटे में दक्षिणी कश्मीर में तीसरी आतंकी घटना
बता दें कि पिछले 24 घंटे में दक्षिणी कश्मीर में यह तीसरी आतंकी घटना थी। इसे पूर्व आतंकियों ने शुक्रवार शाम शिरपोरा कुलगाम से पुलिसकर्मी को उसके घर से अगवा किया था। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस ने सीआरपीएफ और सेना के साथ भी जानकारी साझा की जिसके बाद आसपास के इलाके में नाके पर सुरक्षा बढ़ा दी गई। इस बीच हिरपोरा के पास एक नाके पर कार को रुकने के लिए कहा गया और इस दौरान आतंकियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की। सुरक्षाबलों ने भी एहतिहात बरतते हुए जवाबी कार्रवाई की और दो अज्ञात आतंकियों को मार गिराया। आईजीपी विजय कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि इस दौरान पुलिस के दो जवान घायल भी हुए। यहां भी आतंकियों से हथियार बरामद किए गए।

वहीं, अगर इस वर्ष अप्रैल के महीने की बात करें तो अबतक 24 आतंकियों को मार गिराया जा चुका है यानि औसतन रोजाना एक आतंकी। मारे गए आतंकी कश्मीर घाटी में सक्रिय विभिन्न आतंकी संगठनों से ताल्लुक रखते हैं जिनमें जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा, हिजबुल मुजाहिदीन समेत जेकेआईइस शामिल हैं। इस महीने के पहले 25 दिनों में आतंकी खारबटपोरा कुलगाम, केरन, आरमपोरा सोपोर, कीगाम और महलूरा शोपियां, किश्तवाड़, खारपोरा बिजबिहाड़ा और गोरीपुरा पुलवामा में सुरक्षाबलों के साथ अलग-अलग मुठभेड़ों के दौरान मार गिराए हैं और इनमें कुछ बड़े कमांडर भी शामिल हैं। जबकि साल 2020 के दौरान मारे गए आतंकियों की संख्या अबतक 56 पहुंच गई है।