कोरोना संकट के बीच अमरनाथ यात्रा का एडवांस रजिस्ट्रेशन चार मई तक टला, लॉकडाउन के चलते फैसला

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन के चलते इस साल की अमरनाथ यात्रा की एडवांस रजिस्ट्रेशन को अब चार मई तक टाल दिया गया है. 23 जून से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा का एडवांस रजिस्ट्रेशन एक अप्रैल से शुरू होना था जिसे लॉकडाउन के चलते पहले 15 अप्रैल तक टाल दिया गया था.

श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि इस साल की अमरनाथ यात्रा का एडवांस रजिस्ट्रेशन एक अप्रैल से शुरू होना था जिसे देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस की वजह से पहले 15 अप्रैल और अब चार मई तक टाल दिया गया है. इस साल श्री अमरनाथ जी की 42 दिन की यात्रा 23 जून को शुरू होकर तीन अगस्त तक चलेगी.

इस साल की अमरनाथ यात्रा की अवधि को लेकर श्री श्री रवि शंकर समिति की ओर से की गई सिफारिशों के आधार पर बोर्ड ने यह फैसला लिया था कि इस बार की यात्रा 23 जून से शुरू होकर अगले 42 दिन तक चलेगी. इस यात्रा का समापन तीन अगस्त श्रवण पूर्णिमा वाले दिन होगा. श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने इस साल की यात्रा के लिए देश के 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में स्थित पंजाब नेशनल बैंक, जम्मू कश्मीर बैंक और यस बैंक की 442 नामित शाखाओं के माध्यम से तीर्थ यात्रियों के एडवांस रजिस्ट्रेशन के प्रबंध किए हैं.

सभी तीर्थ यात्रियों के लिए एडवांस रजिस्ट्रेशन एक अप्रैल 2020 से शुरू होगी. दरअसल, साल 2019 में यात्रियों के लिए सीमित संख्या के ऑनलाइन पंजीकरण के पायलट प्रोजेक्ट की सफलता को देखते हुए बोर्ड ने ऑनलाइन पंजीकरण का कोटा बढ़ाने का फैसला किया है. बोर्ड ने इस साल की अमरनाथ की यात्रा में जाने वाले सभी तीर्थ यात्रियों के लिए उनके राज्य या केंद्र शासित प्रदेश द्वारा नामित डॉक्टरों या अस्पतालों द्वारा जारी किए गए निर्धारित अनिवार्य स्वास्थ्य प्रमाण पत्र को यात्रा के लिए जरूरी बताया है.