केरल विमान हादसा: 18 की मौत, 170 बचाए गए, चश्मदीदों ने बताया कितना खतरनाक था मंजर

केरल विमान हादसे में रेसक्यू ऑपरेशन पूरा हो गया है. दो पायलट समेत 18 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है वहीं 170 लोगों को बचा लिया गया है. एयर इंडिया विमान (IX-1344) में 190 लोग सवार थे, जिसमें 174 वयस्क यात्री, 10 बच्चे, 04 केबिन क्रू और 2 पायलट थे. घायलों को मल्लपुरम और कोझिकोड के अस्पतालों में एडमिट कराया गया है. विमान बारिश के कारण कोझिकोड हवाईपट्टी से फिसल गया और 35 फुट नीचे गिर गया और दो हिस्सों में टूट गया. ये हादसा शुक्रवार शाम 7.41 बजे हुआ.

चीख-पुकार और एंबुलेंस के सायरन की आवाज से दहला
दुबई से आ रहे विमान के एकाएक खाई में गिर जाने से यहां चारों ओर चीख-पुकार, खून से सने कपड़े, डरे सहमे रोते हुए बच्चे और एंबुलेंस के सायरन की आवाजों ने क्षेत्र को दहला दिया. बारिश के बीच, स्थानीय नागरिकों और पुलिस सहित बचाव कर्मियों ने विमान से घायल पुरुष और महिलाओं को बाहर निकालने में फुर्ती दिखाई. विमान तेज आवाज के साथ दो बड़े टुकड़ों में टूट गया और यात्रियों को समझ ही नहीं आया कि पल भर में क्या हो गया.

बचावकर्मियों ने लोगों को बाहर निकाला. इस दौरान चार से पांच साल के छोटे बच्चे बचाव कर्मियों की गोद में चिपके दिखाई दिए और यात्रियों का सारा सामान यहां वहां बिखरा था. तेज आवाज सुन कर स्थानीय लोग भी मदद के लिए दौड़ पड़े.

बचाव अभियान में शामिल एक अन्य व्यक्ति ने टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा, “घायल पायलट को विमान से कॉकपिट तोड़कर निकाला गया.” एक दूसरे स्थानीय व्यक्ति ने कहा, “तेज आवाज सुन कर वह हवाईअड्डे की ओर भागा. छोटे बच्चे सीटों के नीचे फंसे हुए थे और यह बेहद दुखद था. बहुत से लोग घायल थे. उनमें से कई की हालत गंभीर थी. पैर टूटे हुए थे… मेरे हाथ और कमीज घायलों के खून से सनी हुई थी.”

क्या है हादसे का कारण
केरल विमान हादसे के कई कारण हो सकते हैं, जिसमें से एक सबसे बड़ा कारण खतरनाक रनवे माना जा रहा है. आमतौर पर रनवे पर बीच में भी लाइट होती है जिसे सेंटर लाइट कहा जाता है. इससे रात में लैंडिंग के दौरान रनवे का अंदाजा रहता है, लेकिन इस रनवे पर सेंटर लाइट नहीं थी. इस रनवे पर बड़े जहाज नहीं आते हैं, क्योंकि ये रनवे खतरनाक होता है.

खराब मौमस में ऐसे रनवे पर विजिबलिटी काफी कम रहती है, जिससे हादसे की संभावना रहती है. गुरुवार से ही कोझिकोड में तेज बारिश हो रही थी और मौसम काफी खराब था. माना जा रहा है कि इसी कारण एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान सही से लैंड नहीं हो पाया और वो फिसलकर खाई में गिर गया.

इस घटना के बाद दुबई स्थित भारत के महावाणिज्यिक दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर  056 546 3903, 054 309 0572, और 054 309 0575  जारी किया है. इन नंबरों पर कॉल करके अपने संबंधियों के बारे में जानकारी ली जा सकती है.