J&K: घाटी में आतंकवाद से निपटने के साथ-साथ अब प्लाज्मा भी दान कर रहे सीआरपीएफ जवान

कश्मीर में आतंकी मुठभेड़ हो या फिर कानून व्यवस्था खराब करने वाले प्रदर्शनकारियों से निपटना हो हर जगह सीआरपीएफ जवान आगे आकार मोर्चा संभालते हैं। अब यह जवान कोरोना संक्रमित कश्मीरी लोगों को प्लाज्मा डोनेट कर उनकी जान बचाने के लिए भी आगे आ रहे हैं। अब तक लगभग आठ से अधिक पॉइंट प्लाज्मा जवानों ने दान किया। 

सीआरपीएफ के एक अधिकारी ने बताया कि वर्ष 2017 में सीआरपीएफ द्वारा शुरू की गई मददगार हेल्पलाइन 14411 इस लॉकडाउन में लोगों का सहारा बनकर उभरी है। इसी हेल्पलाइन पर फोन आने पर सीआरपीएफ ने जरूरतमंद लोगों को राशन बांटा। अब कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए प्लाज्मा को लेकर भी लोग इस हेल्पलाइन पर कॉल कर रहे हैं। यहां 15 से अधिक कॉल आ चुकी हैं। आठ यूनिट प्लाज्मा जवानों ने दान किया है। 

प्लाज्मा डोनेट करने वाले सीआरपीएफ के दो जवानों ने कहा कि वह काफी गर्व महसूस कर रहे कि वह किसी की जान बचाने के काम आ रहे हैं। चेन्नई के रहने वाले एएसआई टी मुनियांडी ने कहा कि जब उन्हें यह पता लगा कि एक व्यक्ति को प्लाज्मा की जरूरत है तो उनसे रहा नहीं गया। स्किम्स में प्लाज्मा दान कर उस व्यक्ति की जान बचाई। 

वहीं उत्तर प्रदेश के सचिन कुमार ने कहा कि पहले जब वह पॉजिटिव हुए तो सभी की तरह उन्हें भी डर लगा कि अब क्या होगा पर जब ठीक हुए तो वह अब खुश हैं कि वह ठीक होने के साथ-साथ अब प्लाज्मा डोनेट कर दूसरों को भी ठीक होने में मदद कर सकते हैं।