ISIS आतंकी अबू यूसुफ का जाकिर नाइक कनेक्शन! हुआ ये बड़ा खुलासा

दिल्ली में शुक्रवार रात एनकाउंटर के बाद पकड़े गए आईएसआईएस आतंकी मुस्तकीम उर्फ अबू यूसुफ को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, अबू यूसुफ सोशल मीडिया पर अक्सर जाकिर नाइक के वीडियो देखा करता था.

आईएसआईएस आतंकी अबू यूसुफ उर्फ मुस्तकीम 9वीं तक पढ़ा है. वह टेलीग्राम ऐप के जरिए आईएसआईएस के हैंडलर्स से जुड़ा था और फिदायीन बनने की ट्रेनिंग ले रहा था. वह हैदराबाद से दुबई और फिर सऊदी अरब पहुंचा था. सऊदी अरब में वह कुछ दिन जेल में भी रहा था. ये सारी जानकारियां पुलिस को अबू यूसुफ की पत्नी आयशा ने दीं.

आतंकी अबू यूसुफ उर्फ मुस्तकीम के बलरामपुर स्थित घर से दो मानव बम जैकेट, बड़ी मात्रा में विस्फोटक, आईएसआईएस का झंडा और भड़काऊ साहित्य बरामद हुआ है. दिल्ली एटीएस ने ये सभी चीजें बरामद की हैं. पुलिस से जुड़े सूत्रों की मानें तो जो मानव बम जैकेट बरामद किया गया है उसे फिदायीन हमले में इस्तेमाल किया जाना था.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल अबु यूसुफ को लेकर यूपी के बलरामपुर जिले के उतरौला कस्बे में स्थित उसके घर पहुंची थी. उसका एक दूसर घर मोकामा बढ़िया भैसाही गांव में है, पुलिस अबू यूसुफ को लेकर वहां भी गई. इस दौरान दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीम के साथ यूपी एटीएस की टीम भी मौजूद रही.

सऊदी अरब में जेल में भी रहा था अबू यूसुफ
अबू यूसुफ की बहन ने बताया कि अबू यूसुफ पीओपी का काम करता था. वह 2005 में पहली बार 6 महीने के लिए दुबई गया था. दुबई से लौटकर उसने कुछ दिन हैदराबाद में काम किया. एक बार फिर 2006 में सऊदी अरब गया और वहां 2011 तक रहा. बहन ने बताया कि सऊदी अरब में वह कुछ समय जेल में भी रहा था. अबू का 2011 में आयशा के साथ निकाह हुआ था. वह 2015 में 15 दिन के लिए कतर गया था. उतरौला में अबू यूसुफ ने कॉस्मेटिक्स की दुकान खोली थी, लेकिन वह दुकान पर कम ही बैठता था. उसके पिता वकील अहमद ही दुकान संभालते थे.