अरुणाचल प्रदेश: चीनी सेना ने अगवा किए पांच भारतीयों को रिहा किया, 14 दिन क्वारन्टीन में रहेंगे

राज्य के जंगलों से गायब हुए पांच युवकों को आज चीन की सेना ने भारतीय सेना को सकुशल लौटा दिया. अरूणाचल प्रदेश के किबिथू बीपीएम हट पर चीनी सेना ने इन पांचों युवकों को भारतीय सेना के हवाले किया. भारत लौटने पर पांचों युवकों को 14 दिन के क्वारंटीन पर भेज दिया गया है. ये पांचों युवक एक हफ्ते पहले अरूणाचल प्रदेश के जंगल में शिकार करते वक्त चीन की सीमा में गलती से दाखिल हो गए थे.

रक्षा मंत्रालय के तेजपुर (असम) स्थित प्रवक्ता, कर्नल हर्षवर्धन के मुताबिक शनिवार सुबह करीब 9.30 बजे इन पांचों युवकों को भारतीय सेना के हवाले कर दिया गया. कोरोना के प्रोटोकॉल के तहत इन पांचों युवकों को 14 दिन तक क्वारंटीन में रहना होगा. उसके बाद इन युवकों को उनके परिवारों को सौंप दिया जाएगा.

कर्नल हर्षवर्धन के मुताबिक, अरूणाचल प्रदेश के जंगलों में युवक अमूमन शिकार करने या फिर जड़ी-बूटियों की खोज में कई कई दिनों के लिए निकल जाते हैं. लेकिन कई बार ये लोग चीनी सीमा में दाखिल हो जाते हैं- क्योंकि भारत चीन सीमा पर किसी तरह की तारबंदी नहीं है. मौजूदा घटना इस‌ साल की तीसरी है जब भारतीय सेना ने चीन से भारतीय नागरिकों को वापस लिया है.

आपकों बता दें कि पिछले हफ्ते ये पांचों युवक अरूणाचल प्रदेश के अपर-सुबानसरी जिले के जंगलों से लापता हो गए थे. परिवारवालों ने चीनी सेना पर अगवा करने का आरोप लगाया था. अरूणाचल प्रदेश के स्थानीय नेताओं ने सेनाओ और सरकार से युवकों को वापस लाने की गुहार लगाई थी. इसके बाद 8 सितंबर को भारतीय सेना ने चीन की पीएलए सेना से हॉटलाइन पर संपर्क किया था. चीनी सेना ने उसके बाद युवकों के चीनी सीमा में दाखिल होने की जानकारी दी थी.

शनिवार को चीनी सेना ने सभी कागजी कारवाई के बाद इन युवकों को भारत के हवाले कर दिया. चीनी सेना ने इन पांचों भारतीय नागरिकों पर किसी तरह का आरोप नहीं लगाय गया. इसके बावजूद चीन के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स के संपादक ने इन पांचों को भारत का जासूस होने का आरोप जड़ दिया है.