चीन की कोई भी हरकत उसपर ही पड़ेगी भारी, हिंद महासागर में तैनात हुए बी-2 बॉम्बर जेट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की दोस्ती चीन पर बहुत भारी पड़ने वाली है. लद्दाख में चीन ने जो दुस्साहस किया है, अब ऐसी किसी भी दुस्साहस पर चीन को करारा जवाब मिलेगा. क्योंकि हिंद महासागर में अमेरिका का सबसे घातक विमान बी-2 आ चुका है. और इसकी तैनाती से चीन घबरा उठा है.

हिंद महासागर में बी-2 बॉम्बर की तैनाती ये बताने के लिए काफी है कि भारत-अमेरिका मिलकर अब चीन को सबक सिखाएंगे. आसमान में उड़ते अमेरिका के इस ब्रह्मास़्त्र की सबसे बड़ी खूबी है कि इसे दुश्मन का कोई भी राडार (Radar) पकड़ नहीं सकता. यानि ये जिधर धमाका करने जाएगा, उधर तबाही मचाकर ही वापस आएगा.