जम्मू में मनाया गया बकरीद का त्योहार, वीकेंड लॉकडाउन के कारण नहीं दिखी रंगत

पूरे देश की तरह जम्मू में भी बकरीद का त्योहार मनाया जा रहा है, लेकिन करोना वायरस को हराने के लिए जारी वीकेंड लॉकडाउन के चलते इस बार इस त्योहार का मजा फीका पड़ गया है. जम्मू में जारी लॉकडाउन के चलते ना तो लोग ईद की नमाज अदा कर पाए और ना ही बाजारों में रौनक दिखी.
जम्मू में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को रोकने के लिए प्रदेश प्रशासन ने जिले में वीकेंड लॉकडाउन की घोषणा की है. यह लॉकडाउन शुक्रवार शाम 6 बजे से शुरू होकर सोमवार सुबह 6 बजे तक जारी रहता है. इस वीकेंड लॉकडाउन का असर इस बार ईद के त्यौहार पर भी पड़ा है.

लॉकडाउन के चलते ना तो लोग मस्जिदों में नमाज अदा कर पाए और ना ही वह एक दूसरे के घर जाकर ईद की बधाई दे पाए. लॉकडाउन को लागू करने के लिए जम्मू की सड़कों पर जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ-साथ अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है और लोगों को घरों से न निकलने की हिदायत दी गई है.

वहीं लॉकडाउन के चलते जिले की सारी दुकानें बंद हैं. जिससे लोग ना तो ईद पर खरीदारी कर पाए और ना ही वह एक दूसरे के घर जाकर ईद की बधाई दे पाए. उधर, जम्मू पुलिस ने ईद और रक्षाबंधन के आगामी त्योहारों के मद्देनजर, जम्मू के नागरिकों से अनुरोध किया है कि वे कोरोना मानदंडों का पालन करें और महामारी के आगे प्रसार को रोकने में पुलिस की भागीदार बनें.

जम्मू पुलिस के मुताबिक जैसा कि त्योहार पूरे उत्साह के साथ मनाया जा रहा है, आम जनता को भी समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का पालन करना चाहिए. पुलिस ने हिदायत दी है कि लोग अपने घर पर रहकर अपने और अपने परिवार और आसपास के लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं.