COVID-19: क्या चमगादड़ों से इंसानों में आ सकता है कोरोना वायरस, जानिए ICMR का जवाब

इंडियन मेडिकल काउंसिल ऑफ रिसर्च (ICMR) के अध्यक्ष आर गंगाखेडकर ने कहा कि चमगादड़ से इंसानों में कोरोना वायरस आने की घटना बहुत दुर्लभ (रेयर) है. उन्होंने एक सवाल के जवाब में समझाते हुए कहा कि चमगादड़ों से इंसानों में आने की घटना एक हजार साल में एक बार होती होगी. जब कोई वायरस स्पेसीज (जाति) बदलता है तो बहुत दुर्लभ घटना होती है और तब ये इंसानों में फैलता है.

आर गंगाखेडकर ने कहा, ‘’ये जो कोरोना वायरस होता है, ये चमगादड़ों के अंदर भी पाया जाता है. चीन में अभी जो रिसर्च हुआ उसमें पता चला है कि जो वायरस हमलोगों (इंसानों) में आया है, या तो चमगादड़ों के वायरस में ऐसे म्यूटेशन (परिवर्तिन) का विकास हुआ जिससे वो इंसान के अंदर जाने की भी क्षमता रखता होगा और बीमारी करता होगा. इस किस्म का विषाणु बन गया और इंसानों में आया. दूसरा एक कहा जाता है कि चमगादड़ों से पैंगुलीन (एक तरह का स्तनपायी) में आया होगा और वहां से इंसानों में आया होगा.’’