जम्मू-कश्मीर में अबतक दूसरे राज्यों से वापस लाए गए 32,000 से अधिक श्रमिक, छात्र और मज़दूर

कोरोना वायरस को हराने के लिए जारी लॉकडाउन के दौरान दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को वापस लाने की कवायद जारी है. गुरूवार शाम तक दूसरे राज्यों में फंसे 32,000 से अधिक श्रमिकों, छात्रों और मज़दूरों को प्रदेश वापस लाया जा चुका है.

पंजाब-जम्मू बॉर्डर पर कठुआ ज़िले के लखनपुर में बाहरी राज्यों से प्रदेश पहुंच रहे इन लोगों को अपने अपने घरों तक पहुंचाने की व्ययस्था की गयी है. प्रदेश सरकार द्वारा बाहरी राज्यों से वापस आने के लोगों के लिए जारी किये गए दिशानिर्देशों के तहत गुरूवार शाम तक 32000 से अधिक लोगों को प्रदेश वापस लाया गया.

जम्मू कश्मीर के प्रवेश द्वार लखनपुर पहुंचते ही इन सभी लोगों की स्वास्थ्य जांच करने के बाद इन्हें अलग-अलग बसों में बैठा कर अपने गृह ज़िलों की तरफ भेजा जा रहा है, जहां इन्हें क्वॉरन्टीन किया जायेगा.

जम्मू कश्मीर सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल के मुताबिक कोरोना को हराने के लिए प्रदेश पहुंच रहे सभी लोगों की टेस्टिंग की जाएगी, क्योंकि कोरोना को रोकने का यही एक तरीका है. वहीं, प्रदेश सरकार अब विदेशो में फंसे प्रदेश के नागरिकों की वापसी के लिए भी योजना तैयार कर चुकी है. इसके लिए बाहरी देशो में फंसे भारतीय छात्र या लोग भारतीय दूतावास कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं.