जम्मू-कश्मीर: HC ने दिए निर्देश, कहा- एक सप्ताह के भीतर लॉकडाउन से बाहर आने का प्लान करें तैयार

जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट ने प्रदेश सरकार को एक सप्ताह के भीतर लॉकडाउन से बाहर आने का एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिए हैं. कोर्ट ने कहा कि जनता को हमेशा लॉकडाउन में नहीं रखा जा सकता और ऐसे में लॉकडाउन से बाहर आने का एक्शन प्लान बनाया जाना चाहिए.
अदालत ने कहा कि प्रशासन कोरोना वायरस को हराने के लिए जारी लॉकडाउन का पालन करवाने के लिए उठाये जा रहे कदमों का विवरण तो दे रहा है, लेकिन वो अदालत में यह नहीं बता रहा कि लोगों को इस लॉकडाउन से बाहर कैसे लाया जायेगा. अदालत ने कहा कि लॉकडाउन हटने के बाद आम जनता को कोरोना वायरस के साथ कैसे जीना और इससे कैसे निपटना है और कौन कौन से एहतियात अपनाने है इसको लेकर जनता को अभी से जागरूक करने की जरूरत है.

जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट की डिवीजन बैंच में चीफ जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस रजनीश ओसवाल ने स्वास्थ्य और चिकित्सा विभाग के सचिव, समाज कल्याण विभाग और जम्मू-कश्मीर लीगल सर्विसेज अथॉरिटी के सदस्य को एक सप्ताह के भीतर लॉकडाउन से बाहर आने का एक्शन प्लान तैयार करने को कहा. हाईकोर्ट ने कहा कि समय रहते लोगों को यह बताना जरूरी है कि लॉकडाउन के बाद कौन कौन से एहतियाती कदम उठा कर खुद को सुरक्षित रखा जा सकता है.