बुरहान की बरसी पर हमले की आशंका, घाटी में आज और 13 जुलाई को सुरक्षाबलों के काफिले पर रोक

हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी की बरसी और शहीदी दिवस पर हमले की आशंका के मद्देजनर घाटी में सुरक्षाबलों के काफिले पर रोक लगा दी गई है। बुरहान की बरसी आठ जुलाई और शहीदी दिवस 13 जुलाई को है।

हालांकि, केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद शहीदी दिवस पर होने वाले सार्वजनिक अवकाश को रद्द कर दिया गया है। वहीं हुर्रियत छोड़ चुके अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के नाम पर सोशल मीडिया में फर्जी पत्र जारी कर इन दोनों दिन हड़ताल करने को कहा गया था।सभी सुरक्षा एजेंसियों को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि पूरी घाटी में काफिले पर रोक के साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाना है कि किसी भी कीमत पर सुरक्षाबलों का अकेला वाहन किसी भी इलाके में न जाए। अंतर जिला और जिले के भीतर भी वाहनों को आने जाने नहीं दिया जाएगा।

इसके साथ ही इन दोनों दिन घाटी में प्रशासन की गाड़ियों के मूवमेंट पर भी प्रतिबंध रहेगा। पत्र में यह भी कहा गया है कि इन दोनों दिन ड्राई डे रहेगा यानी शराब की दुकानें बंद रहेंगी। सभी सुरक्षाबलों से अतिरिक्त सतर्कता बरतने को भी कहा गया है।