ज्वैलरी बाजार पर कोरोना की मार, ख़रीदारी करने से कतरा रहे हैं ग्राहक

कोरोना वायरस की मार बुरी तरह सोना और हीरा कारोबार पर पड़ा है. ज्वैलरी बाजार में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है. सोने के दाम 45 हज़ार से 40 हज़ार तक गिरने के बाद भी दुकान सुने पड़े हैं. ग्राहक कोरोना के डर से अपने घरों से बाहर निकलने से कतरा रहे हैं.

तिलोकचंद ज्वैलरी दुकान के मालिक कुमार जैन बताते हैं कि इन दिनों ज्वैलरी बाजार पर कोरोना वायरस का सबसे ज़्यादा असर पड़ा है. सभी सोना व्यापारी चौबीसों घंटे दुकान खोलकर ग्राहको के आने का इंतज़ार करते हैं लेकिन दुकान और सड़के दोंनों सुन्न पड़ी हैं. आज ज्वैलरी बाजार पूरी तरह से सुना पड़ा है. शादी का सीजन होने के बावजूद आज ग्राहक नदारद हैं. इसका मुख्य करण देश मे फैली महामारी है. कोरोना के डर से आज ग्रहक अपने घर मे सहमा हुआ बैठा है.

कुमार जैन बताते हैं कि एक दिन में जहां दुकान में 30 से 35 ग्रहक सोना खरीदने आते थे, वहीं आज एक भी नही आ रहा. आम तौर पर जहा खरीदार सोने के दाम में गिरावट होने का इंतज़ार करते थे और सोने की दाम में गिरावट होने पे खरीदारी करते थे. वहीं अब कोरोना के डर से खरीददारी नही कर रहे हैं. पहले दुकान में काफी भीड़ होती थीं लेकिन अब उल्टा है. सोने का दाम 45 हज़ार से लुढक कर 40 हज़ार के पास पहुंचा है लेकिन कोरोना महामारी से खरीदार इतने डरे हुए हैं के वे अपने घरों से बाहर नही निकल रहे. इस वजह से पूरा बिज़नेस ठप पड़ा है.