बेरोजगारों को नए साल में मिलेगा तोहफा, इस फील्ड में आ रही हैं 5 लाख नौकरियां

नई दिल्ली: नए साल में आईटी सेक्टर में नौकरियों की भरमार लगने वाली है. इस इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का कहना है कि वर्तमान सरकार द्वारा प्रोत्साहन मिलने की वजह से स्टार्टअप्स का ट्रेंड तेजी से बढ़ा है. यहां नौकरियों की भरमार है और ज्यादातर जगहों पर फ्रेशर्स को खोजा जा रहा है. इंडस्ट्री एक्सपर्ट की माने तो 2019 में आईटी और स्टार्टअप्स को कम से कम 5 लाख फ्रेशर्स की तलाश होगी. इसलिए, आईटी फील्ड में पढ़ाई कर कर छात्रों के लिए यह बहुत अच्छी खबर है.

इंफोसिस के पूर्व CFO (चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर) टीवी मोहनदास पई ने कहा कि 2018 में इस फील्ड में सैलरी में काफी सुधार आया है. पिछले करीब 7-8 सालों से आईट फील्ड में सैलरी को लेकर काफी सुस्ती थी. लेकिन, इस साल शुरुआती सैलरी में करीब 20 फीसदी तक का इजाफा हुआ है. 2018 से पहले तक इस फील्ड में फ्रेशर्स की सैलरी औसतन 3.5 लाख सालाना के आसपास रही है. उन्होंने कहा कि भारत में एकबार फिर से आईटी इंडस्ट्री तेजी से विकास कर रही है.

उन्होंने कहा कि 2018 में  H1B वीजा के नियमों में बहुत बदलाव आया है. इसका बहुत ज्यादा प्रभाव इस इंडस्ट्री और इससे जुड़े प्रोफेशनल्स पर पड़ा है. भारतीय कंपनियां अब अमेरिका की जगह जापान और साउथ ईस्ट एशिया के देशों की तरफ फोकस कर रही हैं. उनका नया प्रोजेक्ट इन देशों में शुरू हो रहा है. बहुत कंपनियां वापस अपने देश की तरफ भी मुड़ने लगी हैं.

बता दें, नोएडा में TCS (टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस) करीब 2300 करोड़ रुपये की लागत से आईटी पार्क बनाने वाली है. उम्मीद की जा रही है कि इस प्रोजेक्ट से करीब 30 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा. इसके लिए फरवरी 2018 में यूपी इंवेस्टर्स समिट के दौरान कंपनी ने योगी सरकार के साथ MoU करार किया था.