जम्मूः पाकिस्तान कर चुका है 2000 से ज्यादा बार युद्धविराम का उल्लंघन, आतंकियों को घुसपैठ कराने की नाकाम कोशिश

जम्मू कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ चल रहे अभियानों में भारतीय सेना को मिल रही सफलताओं से बौखलाए पाकिस्तान ने प्रदेश में एलओसी को युद्ध का मैदान बना दिया है और इस साल अब तक पाकिस्तान 2000 से अधिक बार सीमा पर युद्धविराम उल्लंघन कर चुका हैं शनिवार को पाकिस्तान की तरफ से ऐसी ही एक हिमाकत में जम्मू के पुंछ सेक्टर में भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया.

जम्मू में रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्ट कर्नल देवेंद्र आनंद के मुताबिक 13 जून को पाकिस्तान की तरफ से एलओसी पर जम्मू के पुंछ सेक्टर में पाकिस्तान ने युद्धविराम का उल्लंघन किया. पाकिस्तान ने सीमा की अग्रिम चौकियों और रिहायशी इलाको को निशाना बनाते हुए छोटे हथियारों से गोलीबारी की और मोर्टार शैल भी दागे.

सीमा पर तैनात भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तान की इस हिमाकत का मुंह तोड़ जवाब दिया और इस फायरिंग में भारतीय सेना के एक जवान घायल हो गए. सेना तुरंत अपने घायल जवान को इलाज के लिए ले गयी लेकिन कुछ देर में ही घायल जवान ने अपना सर्वोच्य बलिदान दिया.

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक शहीद जवान की पहचान सिपाही लुंगमबई के रूप में हुई है. गौरतलब है कि पाकिस्तान इन दिनों जम्मू में एलओसी पर जम्मू के पूंछ और राजौरी सेक्टर में लगभग रोज़ाना युद्धविराम का उल्लंघन कर लॉन्चपैड पर बैठे अपने आतंकियों को घुसपैठ करने की कोशिश करता है.