जम्मू: लोगों ने राफेल की आमद से पहले मनाया जश्न, लड़ाकू विमान की क्षमता के आगे पाक-चीन को बताया बौना

फ्रांस से उड़ान भर कर राफेल विमानों का पहला जत्था बुधवार को भारत पहुंचेगा. इस लड़ाकू विमान के भारत पहुंचने से पहले ही जम्मू में लोगों ने इस विमान के भारतीय बेड़े में शामिल होने पर जश्न मनाया है. आधुनिक लड़ाकू विमान राफेल के भारत पहुंचने से पहले जम्मू में लोगों ने हाथों में डफली और घंटिया लेकर और भारत माता की जय के नारे लगा कर इस विमान के भारत आने का स्वागत किया है.

राफेल आ गया पाकिस्तान और चीन पर छा गया’ के नारे लगते हुए जम्मू में लोगों ने कहा कि इस लड़ाकू विमान की क्षमता इतनी है कि भारतीय जहाज़ों को पाकिस्तान में जाकर आतंक के ठिकानों का नामो निशान मिटाने के लिए अब सीमा पार जाने की ज़रुरत नहीं है.

जश्न मना रहे लोगों का कहना है कि राफेल की क्षमता के आगे पाकिस्तान और चीन बौने साबित होंगे. राफेल पर राजनीति करने वालों पर निशाना साधते हुए जम्मू में लोगों ने कहा कि इस मामले पर राजनीति बंद होनी चाहिए.

बता दें कि राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप के रूप में पांच विमान कल फ्रांस से भारत के लिए रवाना हो गए हैं. फ्रांस के बंदरगाह शहर बोर्डेऑस्क में वायुसेना अड्डे से रवाना हुए ये विमान लगभग सात हजार किलोमीटर का सफर तय करके कल अंबाला वासुसेना अड्डे पर पहुंचेंगे. इन लड़ाकू विमानों के स्वागत की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं. हालांकि, इन विमानों के आगमन के दौरान मौसम को भी ध्‍यान में रखा जाएगा.

बताया जा रहा है कि अंबाला एयर बेस के लिए सुरक्षा के बंदोबस्त कड़े कर दिए गए हैं. अंबाला में राफेल की कमान स्कवाड्रन-17 संभालेगी. इतना ही नहीं अंबाला एयरबेस के तीन किलोमीटर के दायरे को नो ड्रोन जोन घोषित कर दिया गया है. राफेल लड़ाकू विमानों के स्वागत के लिए वायुसेना अड्डे को रंगे बिरंगे झंडों से सजाया जा रहा है. कहा जा रहा है कि विमानों के एयरबेस पर लैंड करने के बाद उनपर पानी की बौछारें की जाएंगी और वायुसेना की धुन भी बजाई जाएगी.