मोदी सरकार ने 4.07 करोड़ महिलाओं के जनधन खाते में ₹500 डाले, तीन किस्तों में ये पहली किस्त

देश में कोविड-19 को लेकर जारी लॉकडाउन के बीच अहम खबर आई है. केंद्र सरकार ने 4.07 करोड़ महिलाओं के जनधन खातों में पांच-पांच सौ रुपये डाले हैं. तीन किस्तों में यह पहली किस्त है. अधिकारियों ने बताया कि ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा जारी राशि अप्रैल के पहले हफ्ते के अंत तक महिलाओं के 20.39 करोड़ से अधिक जनधन खातों में जमा कराई जाएगी.

मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया, ‘‘ग्रामीण विकास मंत्रालय अप्रैल महीने के लिए प्रत्येक महिला के प्रधानमंत्री जनधन खाते में 500 रुपये जमा करने के लिए राशि जारी किए हैं और यह राशि दो अप्रैल 2020 को लक्षित खातों में जमा की गई.’’

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 26 मार्च को देश के गरीबों, मजदूरों, नौकरीपेशा कर्मचारियों के लिए 1.70 लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज का एलान किया था. इसके तहत ये एलान किया गया था कि 20 करोड़ महिलाओं के जन-धन खाते में 500 रुपये अगले तीन महीने तक दिए जाएंगे.

गौरतलब है कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है. इस संपूर्ण लॉकडाउन की अवधि 14 अप्रैल तक है. लॉकडाउन के दौरान लोगों की परेशानियों को दूर करने के लिए सरकार की तरफ से राहत पैकेज का एलान किया गया था. इसके तहत आर्थिक मदद की घोषणा की गई थी.

सरकार ने क्या-क्या एलान किए थे

राहत पैकेज के तहत ये भी एलान किया गया था कि पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 8.70 करोड़ किसानों को अप्रैल के पहले हफ्ते में दो हजार रुपये की किस्त दी जाएगी. साथ ही उज्जवला स्कीम के तहत 8 करोड़ से ज्यादा परिवारों को अगले तीन महीने तक मुफ्त गैस दी जाएगी.

तीन करोड़ सीनियर सिटीजन, गरीब विधवाओं और गरीब दिव्यांगजनों को अगले तीन महीने तक 1000 रुपये की सहायता राशि दी जाएगी. इसे दो किस्तों में दिया जाएगा इसका फायदा 3 करोड़ लोगों को होगा.

मनरेगा के तहत आने वाले मजदूरों के लिए दिहाड़ी को 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये किया गया. इससे 5 करोड़ लोगों को फायदा होगा. 80 करोड़ गरीबो लोगों को अगले तीन महीने तक गेहूं, चावल मुफ्त दिए जाएंगे. ये उनको पीडीएस सिस्टम के तहत मिलने वाले अनाज के अतिरिक्त होगा. अगले तीन महीनों तक 80 करोड़ गरीबों को 5 किलो ज्यादा राशन (गेहूं या चावल) मिलेगा. इसके साथ ही हर घर को उनकी पसंद की एक किलो दाल भी दी जाएगी.