जम्मू में बाल विवाह रोका गया

शहर के चन्नी हिम्मत इलाके में 16 वर्षीय एक किशोरी को विवाह के बंधन में बंधने से बचा लिया गया। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू की बाल कल्याण समिति, पुलिस और गैर सरकारी संगठन चाइल्डलाइन को नाबालिक लड़की की शादी के बारे में सूचना मिली। संयुक्त टीम उस स्थान पर पहुंची जहां शादी समारोह चल रहा था। टीम ने लड़की के परिजन को बाल विवाह के नुकसानदेह प्रभावों, दुल्हन को होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं और नाबालिगों के विवाह से जुड़े कानून के बारे में बताया। अधिकारियों ने बताया कि टीम ने परिजन को बाल विवाह रोकथाम कानून, 2006 के बारे में विस्तार से जानकारी देकर शादी रोकने के लिए मनाया। इस कानून के तहत 18 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों की शादी प्रतिबंधित है। उन्होंने कहा कि बाद में किशोरी और परिजनों की थाने में बुलाकर समझाया गया। इस सिलसिले में मामला दर्ज नहीं हुआ।