कोरोना अपडेट: एक दिन में सबसे ज्यादा 8392 नए केस आए, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 90 हजार के पार

 देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में हर दिन तेजी से इजाफा हो रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब इस महामारी से संक्रमित मरीजों की संख्या 2 लाख करीब हो गई है. मंत्रालय के मुताबिक, अबतक 1 लाख 90 हजार 535 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. इसमें 5394 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि 91819 लोग ठीक भी हुए हैं. पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के मामलों में 8392 की बढ़त हुई और 230 मौतें हुईं.

किस राज्य में कितनी मौतें हुईं?
स्वास्थय मंत्रालय के मुताबिक, महाराष्ट्र में 2286, मध्य प्रदेश में 350, गुजरात में 1038, दिल्ली में 473, तमिलनाडु में 173, तेलंगाना में 82, आंध्र प्रदेश में 62, कर्नाटक में 51, उत्तर प्रदेश में 213, पंजाब में 45, पश्चिम बंगाल में 317, राजस्थान में 194, जम्मू-कश्मीर में 28, हरियाणा में 20, केरल में 9, झारखंड में 5, बिहार में 21, ओडिशा में 7, असम में 4, हिमाचल प्रदेश में 5, मेघालय में 1 मौत हुई है.

राज्यवर आंकड़ें

क्रमांकराज्य का नामकोरोना के कुल मामले (11 विदेशी नागरिक शामिल)
ठीक हुए/डिस्चार्ज हुएमौत
1अंडमान निकोबार33330
2आंध्र प्रदेश3679234962
3अरुणाचल प्रदेश410
4असम12721854
5बिहार3815171021
6चंडीगढ़2931994
7छत्तीसगढ़4981151
8दिल्ली198448478473
9गोवा70420
10गुजरात1677999191038
11हरियाणा2091104820
12हिमाचल प्रदेश3311205
13जम्मू कश्मीर244692728
14झारखंड6102565
15कर्नाटक3221121851
16केरल12695909
17लद्दाख74430
18मध्य प्रदेश80894842350
19महाराष्ट्र67655293292286
20मणिपुर71110
21मेघालय27121
22मिजोरम110
23ओडिशा194811267
24पुद्दुचेरी70250
25पंजाब2263198745
26राजस्थान88315927194
27तमिलनाडु2233312757173
28तेलंगाना269814288226
29त्रिपुरा3131730
30उत्तराखंड9071025
31उत्तर प्रदेश78234709213
32पश्चिम बंगाल55012157317
भारत में कुल मरीजों की संख्या190535918195394

आज से पटरी पर उतरी 200 रेगुलर ट्रेन
रेल मंत्री पीषूय गोयल ने एक जून से जिन 200 स्पेशल ट्रेनों को चलाने का एलान किया थो वो ट्रेनें रात बारह बजे के बाद से ही चलनी शुरू हो गई हैं. रेलवे के मुताबिक पहले दिन 200 स्पेशल ट्रेनों से करीब एक लाख 45 हजार यात्री सफर करेंगे. अगर पूरे महीने यानी 30 जून तक की बात करें तो अब तक 26 लाख लोग टिकटों की एडवांस बुकिंग करा चुके हैं.

कोरोना की वजह से अभी तक सिर्फ मालगाड़ी, श्रमिक ट्रेनें और 15 रूट्स पर 30 स्पेशल एसी ट्रेनें ही चलाई जा रही थीं. श्रमिक ट्रेनों का मकसद तो मजदूरों को घर पहुंचाना है लेकिन 12 मई से जो स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं, उसका किराया राजधानी ट्रेनों के बराबर होने से ये आम लोगों के पहुंच से दूर थीं, अब जब भारतीय रेल ने एसी, नॉन-एसी क्लास और जनरल क्लास वाली 200 ट्रेनों को चलाने का फैसला किया है तो गरीब और मध्यवर्गीय परिवारों को भी अपने गंतव्य तक पहुंचने में आसानी होगी.