कोरोना वायरसः भारत में अबतक हुए 4 करोड़ से ज्यादा टेस्ट, 1500 से ज्यादा लैब्स में हो रही जांच

भारत में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 34 लाख के पार हो चुकी है. इसके साथ ही भारत में कोरोना टेस्ट की संख्या भी चार करोड़ के आंकड़े को पार कर चुकी है. वही लगातार टेस्टिंग लैब भी बढ़ गए हैं.

भारत में जनवरी 2020 में पहला मामला सामने आया था तो भारत में कोरोना टेस्टिंग के लिए सिर्फ एक लैब महाराष्ट्र के पुणे में थी. वहीं भारत ने 30 यानी टेस्टिंग ट्रैकिंग और ट्रीटमेंट पॉलिसी अपनाएं जिसके बाद भारत में लगातार कोरोनावायरस की जांच के लिए लैब की संख्या बढ़ाई गई जिस पर निजी और सरकारी दोनों लैब शामिल है. भारत में अब कुल 1576 लैब हैं, जहां पर कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं. इनमें 1002 सरकारी लैब है जबकि 574 प्राइवेट लैब हैं. लैब में अब तक कुल 4,04,06,609 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं.

  • 8 अप्रैल तक भारत में सिर्फ 10 हजार सैंपल टेस्ट किए गए थे.
  • 3 मई को सैंपल टेस्ट की संख्या बढ़कर 10 लाख पहुंच गई. – 10 जून तक भारत में 50 लाख सैंपल टेस्ट किए जा चुके थे.
  • 7 जुलाई तक एक करोड़ से ज्यादा सैंपल टेस्ट किए जा चुके थे.
  • 4 अगस्त को 2 करोड से ज्यादा सैंपल टेस्ट किए गए और 17 अगस्त तक यह संख्या 4 करोड़ के पार हो गई.
  • भाई 29 अगस्त को चार करोड़ से ज्यादा सैंपल टेस्ट किए जा चुके थे भारत में.

टेस्ट प्रति मिलियन (टीपीएम) की बात करें तो अब भारत में 29,280 टेस्ट प्रति मिलियन हो रहे है. कई राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में देखा गया है कि परीक्षण में बढ़ोतरी हुई है. राष्ट्रीय पॉजिटिविटी दर कम बनी हुई है यानी 8.57% और लगातार गिर रही है.

भारत में अब तक कुल 34,63,972 पॉजिटिव मामले सामने आए है. इस संक्रमण से अब तक 62,550 मरीजों की मौत हुई है. वहीं इस संक्रमण से अब 26,48,998 मरीज पूरी तरह ठीक हुए है. भारत में संक्रमण से रिकवरी रेट 76.47% हो गई है.