श्रीनगर में प्लाज्मा थेरेपी से ठीक हुआ मरीज, स्थानीय डॉक्टर ने डोनेट किया था प्लाज्मा

कश्मीर के यूरोलॉजिस्ट डॉ. सलीम वानी ने जिस कोरोना पॉजिटिव मरीज को अपना प्लाज्मा डोनेट किया था वो पूरी तरह से ठीक होकर अपने घर लौट गया है। उनके ठीक होने पर मरीज के बेटे ने खुशी का इजहार करते हुए बाकी लोगों से भी सामने आकार प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की है। वहीं डॉ. सलीम ने कहा कि उन्हें भी काफी खुशी हुई है और ऐसा लगा कि खुदा ने उनके एक प्रयास को स्वीकार किया है।
श्रीनगर के बागात इलाके का रहने वाला 65 वर्षीय एक बुजुर्ग कोरोना संक्रमित पाया गया था। जिसका इलाज श्रीनगर के स्किम्स में चल रहा था। 7 जुलाई को उन्हें डॉ. सलीम वानी ने प्लाज्मा डोनेट किया। डॉ. सलीम कोरोना बीमारी से ठीक हो चुके थे। प्लाज्मा डोनेट होने के बाद वह काफी जल्द स्वस्थ हुए। डॉ. सलीम वानी ने बताया कि आजकल की स्थिति बहुत निराशा भरी है और ऐसे में अगर कोई किसी की जान बचाने के लिए कुछ कर सकता है तो उसे आगे आना चाहिए। डॉ. सलीम ने कहा कि जब यह पता चला कि वो मरीज बिलकुल ठीक हुआ है जिसे मैंने प्लाज्मा डोनेट किया था, इससे मुझे काफी खुशी मिली। एक विशेषज्ञ के अनुसार विज्ञान के दायरे में रहते हुए यह कहना कि प्लाज्मा थेरेपी एक रामबाण इलाज है सही नहीं होगा। लेकिन इस बात से भी नकारा नहीं जा सकता कि कई मरीजों में इसके अच्छे नतीजे देखने को मिले हैं।