17 जुलाई को सेनाध्यक्ष के साथ लद्दाख का दौरा करेंगे रक्षा मंत्री, 18 को जाएंगे श्रीनगर

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे 17 जुलाई को लद्दाख का दौरा करेंगे. रक्षा मंत्री और सेनाध्यक्ष सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेंगे. लद्दाख के बाद अगले दिन 18 जुलाई को रक्षा मंत्री श्रीनगर का दौरा भी करेंगे,

बता दें कि सीमा विवाद को लेकर चीन से तनाव के बाद दोनों देशों के बीच डिसइंगेजमेंट को लेकर चर्चाओं का दौर जारी है. कल दोनों देशों के बीच चौथे राउंड की चर्चा हुई जो करीब साढ़े चौदह घंटे चली. ऐसे समय में रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा करना कूटनीतिक नजर से बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का लद्दाख दौरा जुलाई के शुरुआत में ही होना था. लेकिन उस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी को हैरान करते हुए खुद सीमा के अग्रणी पोस्ट पर पहुंच गए थे. प्रधानमंत्री तीन जुलाई को लद्दाख पहुंचे और चीन के साथ तनाल के बीच सैनिकों का हौसला बढ़ाया था. प्रधानमंत्री सीमा के फॉरवर्ड पोस्ट से चीन को साफ संदेश दिया था कि अब विस्तारवाद का दौर खत्म हो गया है.

लद्दाख: भारतीय और चीनी कमांडरों के बीच चौथे चरण की बातचीत हुई
भारत और चीनी सेना के कमांडरों ने पेंगोंग सो और देपसांग जैसे गतिरोध वाले स्थानों से समयबद्ध तरीके से पीछे हटना शुरू कर दिया है. साथ ही पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास पीछे के सैन्यअड्डों से बड़ी संख्या में सैनिकों और हथियारों को हटाने की प्रक्रिया की रूपरेखा को अंतिम रूप देने के लिए मंगलवार को अहम वार्ता शुरू की.

सरकार के सूत्रों ने बताया कि लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की चौथे चरण की वार्ता एलएसी पर भारत की तरफ चुशुल में निर्धारित बैठक बिंदु पर सुबह करीब 11 बजकर 30 मिनट पर शुरू हुई. बातचीत में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह कर रहे हैं जबकि चीनी पक्ष का नेतृत्व दक्षिण शिनजियांग सैन्य क्षेत्र के प्रतिनिधि मेजर जनरल लियु लिन कर रहे हैं.