जम्मू-कश्मीर: कोरोना संकट के कारण रणबीर नहर समेत सभी नहरों में पानी अप्रैल महीने के अंत में छोड़ा जाएगा

देश और दुनिया में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते इस साल जम्मू की रणबीर नहर समेत सभी नहरों में पानी अप्रैल महीने के अंत में छोड़ा जाएगा. हालांकि हर साल जम्मू की रणबीर नहर समेत बाकी नहरों में यह पानी बैसाखी पर छोड़ा जाता है.

प्रदेश के सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग के मुताबिक जम्मू की सबसे बड़ी रणबीर नहर समेत सभी छोटी-बड़ी नहरों की सफाई का काम पूरा हो चुका है और अब तक तीन लाख क्यूबिक मीटर से अधिक की सफाई की गई है. जमीनी स्थिति का निरक्षण करने और किसानों के प्रतिनिधियों और कृषि विभाग के अधिकारियों से मशवरा करने के बाद इस साल इन नहरों में पानी छोड़ने की तारीख को टाल दिया गया है.

हर साल सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग इन नहरों में पानी बैसाखी के अवसर पर छोड़ा करता था, लेकिन इस साल कोरोना वायरस महामारी के चलते पानी की मांग कम होने के कारण विभाग ने फैसला लिया है कि इस साल इन नहरों में पानी अप्रैल महीने के अंत में छोड़ा जायेगा. विभाग ने दावा किया है कि उन्हें फील्ड स्टाफ से जानकारी मिली है कि पिछले महीने तक प्रदेश में हुई अच्छी बारिश और अब तक फसल की कटाई शुरू ना होने के कारण फिलहाल इन नहरों में पानी छोड़ने की जरुरत नहीं है.

गौरतलब है कि जम्मू में रणबीर नहर समेत नई प्रताप नहर, रणजन नहर, तवी लिफ्ट नहर, परगवाल नहर, कठुआ नहर और रावी मुख्य नहर प्रणाली में आती हैं, जो 1 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई करके 842 गांवों में लाखों किसानों को सिंचाई प्रदान करती हैं.