दो महिलाओं के साथ श्रीनगर हवाई अड्डे पर हिरासत में लिये गये सेना के जवान को रिहा किया गया

दिल्ली जाने के दौरान एक महिला और एक नाबालिग लड़की के साथ यहां हवाई अड्डे पर पहुंचने पर हिरासत में लिये गये सेना के एक जवान को प्रारंभिक पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया क्योंकि पूछताछ के दौरान महिलाओं ने कहा कि वे अपनी मर्जी से उसके साथ यात्रा कर रही हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी । अधिकारियों के अनुसार उत्तरी कश्मीर के बांदीपुरा जिले में तैनात इस सैनिक को शनिवार को यहां हवाई अड्डे पर दो महिलाओं के साथ हिरासत में लिया गया था, जिनमें से एक नाबालिग लड़की थी। तीनों दिल्ली जा रहे थे। अधिकारियों ने बताया कि नाबालिग लड़की महिला की रिश्तेदार है। अधिकारियों ने बताया कि 20 साल से अधिक आयु की महिला ने पुलिस से कहा कि वह और उसकी भतीजी अपनी मर्जी से फौजी के साथ यात्रा कर रही थी। उन्होंने बताया कि तीनों को प्रारंभिक पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया। महिला और उसकी भतीजी को उनके परिवार के हवाले कर दिया गया। एक सैन्य अधिकारी ने बताया कि संबंधित सैनिक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी क्योंकि उसे मानक संचालन प्रक्रिया का उल्लंघन करते हुए पाया गया। मई, 2018 में सेना के मेजर लितुल गोगाई को पुलिस ने यहां एक होटल में एक स्थानीय महिला के साथ मिलने पर हिरासत में लिया था। कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी में मेजर को निर्देशों का उल्लंघन करते और ड्यूटी स्थल से दूर पाया गया । मेजर की वरिष्ठता घटा दी गयी और कश्मीर घाटी से उन्हें हटा दिया गया। मेजर गोगोई तब सुर्खियों में आये थे जब उन्होंने पथराव कर रही भी़ड़ से बचने के लिए एक स्थानीय व्यक्ति को जीप के ऊपर बांध दिया था।