अमरनाथ यात्राः सुरक्षा बेड़े में शामिल हुए बेल्जियम शेफर्ड कुत्ते, विस्फोटक का पता लगाने की क्षमता अन्य कुत्तों से कई गुना अधिक

इस साल की अमरनाथ यात्रा में शामिल होने जा रहे यात्रियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने इस साल सुरक्षाबलों ने बेल्जियम शेफर्ड कुत्तों को शामिल किया गया है. सुरक्षाबलों की मानें तो यात्रा मार्ग पर किसी आईईडी या विस्फोटक का पता लगाने के लिए इन कुत्तों को सुरक्षा के बेड़े में शामिल किया गया है.

विस्फोटक का पता लगाने की क्षमता सबसे अधिक

यह है बेल्जियम शेफर्ड प्रजाति का वो खतरनाक कुत्ता जिसे इस साल की अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा के बेड़े में शामिल किया गया है. इस साल पहली बार इन कुत्तों को अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा में तैनात किया गया है जिसकी दो ख़ास वजह है- पहली कि यह कुत्ते सुरक्षा में तैनात अन्य कुत्तों से कम थकते हैं और दूसरा इनमें विस्फोटक, आईईडी या माइंस का पता लगाने की क्षमता अन्य कुत्तों से कई गुना अधिक होती है.

लंबे सफर में भी नहीं थकते बेल्जियम शेफर्ड

सीआरपीएफ ने इस साल इन कुत्तों को अमरनाथ की सुरक्षा में लगाया है. सीआरपीएफ का दावा है कि इस बेल्जियम शेफर्ड नस्ल को अपनी कार्य कुशलता के लिए जाना जाता है और इसी वजह से इन्हे अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा में लगाया गया है. सीआरपीएफ के मुताबिक बेल्जियम शेफर्ड कुत्ते बहुत की आक्रामक होते हैं और यह बहुत कम थकते हैं जिसकी वजह से इन्हें काफी लम्बी दूरी तक ले जाया जा सकता है.

सुरक्षाबलों ने संभाला मोर्चा

बता दें कि इस साल की अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा को लेकर जम्मू पुलिस, सीआरपीएफ और बीएसएफ ने मोर्चा संभाल लिया है. सुरक्षाबल इन दिनों जम्मू में यात्रा मार्ग, यात्रियों के ठहरने के स्थानों समेत बेस कैंप को खंगाल रहे हैं. इस साल की अमरनाथ यात्रा कब से शुरू होगी इसपर संशय बना हुआ है.

आतंकी साजिश की खुफिया सूचना 

जम्मू कश्मीर प्रशासन ने इस साल की यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा के मद्देनज़र इंतज़ाम युद्धस्तर पर कर रही है. अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने के लिए आतंकवादियों के साजिश रचने के बारे में जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों को खुफिया सूचना मिली है.