लॉकडाउन से पहले COVID 19 के मामले 3.4 दिन में दोगुने हो रहे थे, अब 7.5 दिन का समय लग रहा है- स्वास्थ्य मंत्रालय

स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज बताया कि लॉकडाउन से पहले, कोरोना वायरस के मामले 3.4 दिन में दोगुने हो रहे थे, अब इसमें साढ़े सात दिन का समय लग रहा है. उन्होंने कहा कि 19 अप्रैल तक 18 राज्यों में डबलिंग रेट की औसत देश की औसत से बेहतर है. डबलिंग रेट का मतलब है कोविड 19 मामलों के दोगुना होने का समय.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में डबलिंग रेट 8.5 है. उन्होंने कहा कि कई राज्यों में डबलिंग रेट 20 दिन से अधिक है.

लव अग्रवाल ने कहा, ”पुडुचेरी में माहे, कर्नाटक में कोडागु और उत्तराखंड में पौड़ी गढ़वाल में पिछले 28 दिनों में कोई COVID 19 का मामला दर्ज नहीं हुआ है. जिन जिलों में पिछले 14 दिनों में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है, उनकी संख्या बढ़कर 59 हो गई है. गोवा अब COVID 19 मुक्त है.”

उन्होंने कहा कि बीते 14 दिनों से 59 जिलों में कोरोना वायरस का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है. अग्रवाल ने कहा, ”संक्रमित लोगों में से 15 प्रतिशत मामले गंभीर होते हैं जबकि पांच प्रतिशत बेहद गंभीर मामले होते हैं.”

स्वास्थ्य मंत्रालय ने शाम के चार बजे बताया कि बीते 24 घंटे में 1553 नए केस सामने आए हैं. इसके साथ कुल मामले 17265 हो गए हैं. बीते एक दिन में 36 लोगों की मौत हुई है.