J&K: ड्रग कंट्रोलर ने दवाओं की भंडार स्थिति की समीक्षा की

ड्रग कंट्रोलर, लोतिका खजुरिया ने उपयोगकर्ताओं को जीवन रक्षक दवाओं की आवश्यक की निर्बाध और परेशानी मुक्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आज जम्मू में स्थित प्रमुख बहुराष्ट्रीय, माइक्रो फार्मा हाउसों के सभी डिपो होल्डरों, सी एंड एफ एजेंटों, सुपर स्टॉकिस्टों की एक बैठक बुलाई।
बैठक में सहायक ड्रग कंट्रोलर जम्मू, ड्रग कंट्रोल अधिकारी, अध्यक्ष जेपीडीए और फार्मा व्यापार के अन्य प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
बैठक में कोवि-19 के प्रकोप और इसके बाद देषव्यापी लॉकडाउन के कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए आयोजित किया गया था ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि रोगियों, अंतिम उपयोगकर्ताओं को आवश्यक जीवन रक्षक दवाओं की कोई कमी नहीं है।
यह बताया गया कि डिपो स्तर पर और अब तक आपूर्ति श्रृंखला में सभी प्रकार की आवश्यक दवाओं के पर्याप्त स्टॉक हैं, हालांकि फार्मा डीलरों ने चिंता जताई कि वर्तमान प्रतिबंधों, लॉकडाउन के तहत उन्हें कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।
कठिनाइयों का तत्काल संज्ञान लेते हुए, जीवन रक्षक आवश्यक दवाओं की खेपों की सुचारू आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए प्रशासन द्वारा इस मामले को तत्काल हटाने के लिए इस तरह की कठिनाइयों को दूर करने के लिए कुछ कदम उठाए गए।
इस संदर्भ में, एक व्हाट्सएप समूह का गठन किया गया है जिसमें ड्रग कंट्रोल विभाग के अधिकारी और सभी प्रमुख बहुराष्ट्रीय कंपनियों के डिपो होल्डरों को एक सुसंगत समन्वय बनाए रखना होगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि किसी भी जीवनरक्षक दवाओं की कोई कमी नहीं है जिसे स्टेक होल्डर्स के साथ साझा किया गया है।
जिला स्तर पर सभी सहायक औषधि नियंत्रकों को निर्देश दिया गया है कि वे सभी आजीवन दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करें और व्हाट्सएप ग्रुप नंबर 9797134137 पर किसी भी प्रकार की दवाओं की कमी की रिपोर्ट तैयार प्रारूप पर करें ताकि विशेष रूप से उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए त्वरित कार्रवाई शुरू हो सके।
इसके अलावा, पूरे केंद्र षासित प्रदेष में प्रवर्तन, अधिकार प्राप्त अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिया गया है कि रिटेल उवा की दुकानां पर सामाजिक दूरी को कड़ाई से बनाए रखा जाए।