बातचीत नाकाम रही तो लद्दाख में सैन्य कार्रवाई का विकल्प मौजूद: CDS बिपिन रावत

एलएससी पर भारत-चीन के बीच जारी तनाव को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को बड़ा बयान देते हुए कहा कि लद्दाख में चीनी सेना की घुसपैठ बर्दाश्त नहीं की जाएगी. अगर बातचीत विफल रही तो सैन्य विकल्प मौजूद है. सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने कहा कि सरकार का प्रयास बातचीत के जरिये इस मुद्दे को सुलझाना है. हालांकि उन्‍होंने इशारा किया कि पूर्वी लद्दाख में सेनाएं पूरी तरह से तैयार हैं.

जनरल रावत ने कहा, “सरकार शांतिपूर्ण ढंग से मामला सुलझाना चाहती है. रक्षा सेवाओं का काम निगरानी रखना और ऐसे अतिक्रमण को घुसपैठ में तब्‍दील होने से रोकना है. अगर LAC पर पूर्वस्थिति बहाल करने की कोशिशें सफल नहीं होती हैं तो सैन्‍य कार्रवाई के विकल्प पर भी विचार किया जाएगा.”