शानदार फीचर्स से लैस होंगे E-passport, 10 गुना ज्यादा तेजी से होगा वेरिफिकेशन

देश में जल्द ही ई-पासपोर्ट बनना शुरू हो जाएगा. पासपोर्ट सेवा दिवस पर विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने कहा था कि “विदेश मंत्रालय (एमईए) की आधुनिक तकनीक का उपयोग करते हुए पासपोर्ट बनाने के नियमों और प्रक्रियाओं को और सरल बनाने की योजना है.”

भारत सरकार तेजी से इलेक्ट्रॉनिक पासपोर्ट पर काम कर रही है. इससे पासपोर्ट वेरिफिकेशन की प्रक्रिया 10 गुना तेज हो जाएगी. ये कई शानदार फीचर्स से भी लैस रहेगा. पासपोर्ट में पेपर की क्वालिटी और इस पर प्रिंटिंग भी बेहतर होगी. इसमें एडवांस्ड सिक्योरिटी फीचर दिया जाएगा.

ई-पासपोर्ट निर्माण के लिए नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर और आईआईटी कानपुर मिलकर काम कर रहे हैं. पासपोर्ट की प्रिंटिंग और असेंबलिंग का काम इंडियन सिक्योरिटी प्रेस नासिक में किया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कर चुके हैं एलान
प्रवासी भारतीय सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि दुनियाभर में हमारी दूतावास और वाणिज्य दूतावास को पासपोर्ट सेवा प्रोजेक्ट से जोड़ा जा रहा है. यही नहीं एक कदम आगे बढ़ते हुए चिप बेस्ड ई-पासपोर्ट जारी करने की दिशा में भी काम चल रहा है.

क्या होता है ई-पासपोर्ट

इस पासपोर्ट की खासियत ये होगी कि पासपोर्ट धारक की सारी जानकारी इलेक्ट्रॉनिक तरीके से ही वेरिफाई हो जाएगी. इस ई- चिप वाले पासपोर्ट में वो सारी जानकारियां होंगी जो पासपोर्ट के पहले पेज पर मौजूद रहती हैं.

पासपोर्ट को बायोमीट्रिक करने की भी है तैयारी

खबरें ये भी हैं कि आने वाले दिनों में पासपोर्ट भी पूरी तरह से बायोमीट्रिक हो जाएंगे. बायोमीट्रिक फीचर वाले पासपोर्ट में आपके फिंगर प्रिंट से लेकर आंखों तक की पहचान मौजूद होगी. ये सुविधा फिलहाल आधार कार्ड में मौजूद है. पासपोर्ट के बायोमीट्रिक हो जाने के बाद सुरक्षा में सेंध लगा पाना लगभग नामुमकिन हो जाएगा.

विश्व के कई देशों में बायोमीट्रिक पासपोर्ट पहले से ही हैं. जर्मनी और इटली जैसे देशों में बहुत पहले से ही बायोमीट्रिक पासपोर्ट की सुविधा मौजूद है.

ई-पासपोर्ट के अन्य प्रमुख फीचर

ई-पासपोर्ट के दोनों तरफ कवर लगे होंगे.
बैक कवर में छोटा सा सिलिकॉन चिप भी दिया जा सकता है.
इस चिप को साइज पोस्टेज स्टांप से भी छोटा होगा और इसमें एक आयताकार एंटीना लगा होगा.
चिप में 64 किलोबाइट्स की मेमोरी स्पेस होगी, जिसमें पासपोर्टधारक का फोटोग्राफ और फिंगरप्रिंट्स स्टोर होगा.
चिप में 30 यात्राओं की जानकारी स्टोर करने की क्षमता होगी.