जम्मू-कश्मीर और अंडमान-निकोबार में महसूस किए गए भूकंप के झटके

भारत में पिछले कुछ महीनों से काफी भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं. आज (शुक्रवार को) एक बार फिर से देश के दो केंद्र शासित प्रदेश भूकंप से हिल गया. केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और अंडमान-निकोबार में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. जिसके बाद लोग घरों से बाहर निकल आए.

जम्मू-कश्मीर में शुक्रवार सुबह एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए. शुक्रवार सुबह कटरा से 88 किलोमीटर पूर्व में भूकंप के झटके महसूस किए गए. रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 3.9 मापी गई. भूकंप के झटके महसूस होते ही लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए और काफी समय तक अपने घरों से बाहर ही रहें.

वहीं अंडमान-निकोबार में आए भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.8 मापी गई. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह की राजधानी पोर्टब्लेयर से 250किमी पूर्व की ओर भूकंप का केंद्र बताया गया है. सुबह साढ़े 10 बजे झटके महसूस किए गए थे. इससे पहले 12 तारीख को धरती हिली थी. लगातार आ रहे भूकंप से लोग काफी दहशत में हैं.

16 जुलाई कांप उठे थे 3 राज्य

इससे पहले कल यानी 16 जुलाई को देश के तीन राज्यों की धरती भूकंप से कांप गई थी. गुरुवार सुबह तीन राज्यों में भूकंप के झटके महसूस किए गए. सबसे पहले हिमाचल प्रदेश में धरती हिली, फिर गुजरात कांप गया और फिर उसके बाद असम भी हिल गया था.

गुजरात में एक स्कूल की छत गिर गई थी

गुजरात में भूकंप का केंद्र राजकोट से 18 किमी दूर भयसार गांव में बताया गया था. गोंडल के कोलिथड में हाई स्कूल की छत ढह गई. दूसरी ओर डलिया में भूकंप के कारण घर की दीवारों में दरारें आ गईं. 4.8 तीव्रता के भूकंप ने इस क्षेत्र को लगभग 3 से 4 सेकंड तक हिलाकर रख दिया. लोग दहशत के मारे घरों से बाहर निकल आए.