कटरा-दिल्ली एक्सप्रेस वेः जम्मू से दिल्ली का सफर होगा मात्र छह घंटे में पूरा

दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस वे का काम वर्ष 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके पूरा होने के बाद जम्मू से दिल्ली का सफर मात्र छह घंटे में पूरा हो जाएगा, जो वर्तमान में लगने वाले समय से आधा है। यह जानकारी केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने दी।  

डॉ. सिंह के अनुसार एक्सप्रेस-वे बनने के बाद लोग ट्रेन या हवाई यात्रा करने के बजाय सड़क मार्ग से यात्रा करना ज्यादा पसंद करेंगे। एक्सप्रेस कॉरिडोर श्री माता वैष्णो देवी के आधार शिविर कटड़ा के अलावा एक ओर पवित्र शहर अमृतसर को भी लिंक करेगा। 


डॉ. जितेंद्र सिंह ने बताया कि फीडबैक कंसल्टेंट्स लिमिटेड द्वारा सर्वेक्षण पूरा करने के बाद भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया भी लगभग पूरी हो गई है। इस परियोजना की अनुमानित लागत 35 हजार करोड़ से अधिक है। यह एक्सप्रेस वे कठुआ, जम्मू के अलावा जालंधर, अमृतसर, कपूरथला और 
लुधियाना से होकर गुजरेगा।

कठुआ-जम्मू में औद्योगिक निवेश बढ़ेगा
डॉ. सिंह के मुताबिक तीन साल में पूरा होने वाला यह कॉरिडोर उद्योग को बढ़ावा देने और पूरे क्षेत्र में निवेश के लिए नई किरण लेकर आएगा। उन्होंने कहा कि यह कठुआ और जम्मू जैसे शहरों में आर्थिक हब के विकास का मार्ग भी प्रशस्त करेगा।

बता दें, डॉ. जितेंद्र सिंह ने अपने संसदीय क्षेत्र की इस महत्वपूर्ण परियोजना के लिए वर्ष 2015 से ही प्रयास शुरू कर दिए थे। उन्होंने तीन वर्ष पहले कटरा में आयोजित एक समारोह के दौरान इस एक्सप्रेस वे को लेकर प्रस्ताव दिया था जिसे सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने स्वीकार कर लिया था। इसके बाद प्रक्रियागत मुद्दों आदि के कारण इसमें समय लगा। 

4 से 6 लेन होगा जम्मू पठानकोट नेशनल हाईवे
डॉ. जितेंद्र सिंह ने बताया जम्मू-पठानकोट नेशनल हाईवे को 4 से 6 लेन भी किया जाएगा जो जम्मू, कठुआ और पठानकोट के बीच आवागमन के लिए भी एक बड़ा वरदान साबित होगा।