जम्मू-कश्मीर में हो रहा शिक्षा का कायाकल्प, पांच गर्ल्स हॉस्टल समेत 700 कार्य पूरे किए गए

केेंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में शिक्षा में व्यापक सुधार के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। जम्मू कश्मीर में स्कूली शिक्षा से संबंधित 700 कार्य पूरी हो हुए है जिसमें 5 गर्ल्स हॉस्टल भी बन कर तैयार हुए है। अगले तीन साल में 19 नए माडल स्कूल बनाए जाएंगे। समग्र शिक्षा के तहत 700 कार्य पूरे हो गए है । हाल ही में 15 प्रोजेेक्टों का उद्धाटन उपराज्यपाल जीसी मुर्मू ने किया था।

शिक्षा अधिकार कानून के नए नियम तैयार किए जा रहे है। एनसीआईआरटी की तर्ज पर स्टेट काउंसिल फार एजूकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग बनाया जाएगा। स्कूलों में 626 वोकेशनल लैब बनाई जा रही है। पांच सौ स्कूलों में तीसरे पक्ष के जरिए मूल्यांकन किया जाएगा। मानव संसाधन विकास प्रबंधन को मजबूत करने के लिए सरकार ने 38000 रहबर-ए-तालीम अध्यापकों को स्थायी किया गया है। विशेष जरूरतों वाले 23405 विद्यार्थियों की पहचान की गई है। इनमें से 16115 को पंजीकृत किया गया है। विशेष जरूरतों वाले 2838 विद्यार्थियों में 1.20 करोड़ रूपये की स्कालरशिप दी गई है और 42 लैपटाप वितरित किए गए हैं।

जम्मू कश्मीर में 1417 सीजनल सेंटरों में 30142 गुज्जर बक्करवाल बच्चों को शिक्षा उपलब्ध करवाई गई। जम्मू कश्मीर में 60154 ने दीक्षा ऐप को डाउनलोड किया। 2500 कंप्यूटर लैब स्थापित की जा रही हैं। दूर दराज के इलाकों में ड्राप आउट कम करने के लिए 88 कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय और 88 गर्ल्स आवासीय स्कूल खोले गए। सात नए माडल सेकेंडरी स्कूल और अतिरिक्त क्लासरूम बनाए जा रहे है। कोरोना के दौरान 8.29 लाख विद्यार्थियों को घरों तक मिड डे मील योजना के तहत चावल पहुंचाएं गए। जम्मू कश्मीर में आन लाइन शिक्षा के तहत 252310 विद्यार्थियों को जोड़ा गया और 7302 स्कूल कवर किए गए और 41214 अध्यापक जोड़े गए। फारती फाउंडेशन के सहयेाग से 400 अध्यापकों को ट्रेनिंग दी गई।

जम्मू कश्मीर में 898745 बच्चों में 21.40 कराेड़ रूपये की पुस्तके वितरित की गई। एनसीईआरटी की तरफ से विकसित से पढ़ाई के दस्तावेज 52 हजार प्राइमरी स्कूलों में बांटे गए। 2,22,100 स्कूल बैग और डेस्क उपलब्ध करवाए गए।

चतुर्थ श्रेणी पदों के लिए रिकार्ड 365690 उम्मीदवारों ने करवाया पंजीकरण

केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में चतुर्थ श्रेणी पदों के लिए अब तक रिकार्ड 365690 उम्मीदवारों ने आन लाइन पंजीकरण करवा लिया है। दस जुलाई से शुरु हुई आन लाइन आवेदन में अब तक 190910 उम्मीदवारों ने फार्म भरने का काम समाप्त कर दिया है। चतुर्थ श्रेणी के 8575 पदों के लिए आवेदन करने को लेकर युवाओं में भारी उत्साह है। एकाउंट असिस्टेंट पदों के लिए 37470 आवेदन भरे गए है। वहीं 89 हजार उम्मीदवारों ने सर्विस सिलेक्शन बोर्ड की वेब साइट पर जाकर जानकारी हासिल की है।