कोविड-19: कश्मीर में स्वास्थ्य कर्मियों से रोगियों का सही से विश्लेषण करने को कहा गया

कश्मीर में अधिकारियों ने स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश दिया है कि कोविड-19 के सभी रोगियों का सही तरीके से विश्लेषण किया जाए जिसमें उनके परिवार और स्वास्थ्य संबंधी स्थिति का ब्योरा शामिल हो। कश्मीर के संभागीय आयुक्त पांडुरंग के पोले ने शनिवार को कोविड-19 के रोगियों के संपर्क का पता लगाने, नमूने लेने और अन्य दिशानिर्देशों का ऑनलाइन आकलन करते हुए ये निर्देश जारी किए। अधिकारियों ने बताया, ‘‘पोले ने निर्देश दिया कि रोगियों के विश्लेषण में उनके परिवार, पड़ोसियों, रिश्तेदारों और दैनिक कामकाज की पूरी जानकारी होनी चाहिए। उसमें यह भी जानकारी होनी चाहिए कि उन्हें मधुमेह, हृदयरोग जैसी कोई अन्य बीमारी तो नहीं है या वे डायलिसिस पर तो नहीं हैं। इसके अलावा यह भी विवरण हो कि वे धूम्रपान तो नहीं करते।’’ जम्मू कश्मीर में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 341 पहुंच गयी है। यहां पांच रोगियों की इस बीमारी से मृत्यु हो चुकी है तथा 51 ठीक हो चुके हैं। इस केंद्रशासित प्रदेश में 60 हजार से अधिक लोगों को निगरानी में रखा गया है जिनमें वो भी शामिल हैं जो सरकार द्वारा बनाये गए पृथकवास केंद्रों में या घर में पृथक रह रहे हैं। अधिकारियों के मुताबिक सुरक्षा बलों ने घाटी में अधिकतर जगहों पर मुख्य मार्गों को सील कर दिया है और कई अन्य जगहों पर बैरियर लगा दिए हैं ताकि लोगों की अनावश्यक आवाजाही नहीं हो। उन्होंने कहा कि केवल वैध पासधारकों को जाने की इजाजत होगी।