J&K: प्रोबेशनर्स परीक्षा में दर्जनों IAS अफसर फेल, DC स्तर के कई अधिकारी

बात सुनकर आप भले हैरान हो जाएं। लेकिन यह सच है कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख यूटी में तैनात दर्जनों आईएएस अफसर प्रोबेशनर्स की परीक्षा में फेल हो गए हैं। यह परीक्षा पीएससी (लोक सेवा आयोग) की तरफ से ली गई थी। जिसे अगली प्रमोशन पाने के लिए जरूरी रखा गया था। परीक्षा के तहत छह पेपर हुए। इसमें मौखिक और लिखित परीक्षा हुई। लेकिन दोनों यूटी (केंद्रशासित प्रदेश) के ज्यादातर अफसर इसमें फेल हुए हैं।

कुछ अफसरों को छोड़कर बाकी सभी अफसर छह पेपरों को पास नहीं कर पाए हैं। इसके बाद पीएससी के चेयरमैन बीआर शर्मा ने सरकार को पत्र लिखा है। इस खत में कहा गया है कि दोनों यूटी में तैनात अफसरों का यह हाल है, इसलिए बिना पेपरों को पास किए किसी को प्रमोशन ना दी जाए।

सीनियर टाइम स्केल प्रमोशन के लिए टेस्ट
जानकारी के अनुसार पीएससी की तरफ से दोनों यूटी में तैनात अफसरों का एग्जाम हुआ। सीनियर टाइम स्केल प्रमोशन के लिए टेस्ट लिया गया था। ताकि जो अफसर इन पेपरों में क्लियर हो जाएं उन्हें सीनियर टाइम स्केल प्रमोशन दी जा सके। लेकिन पेपरों के परिणाम ऐसे आए कि सभी हैरान रह गए। ज्यादातर अफसर इस परीक्षा में फेल हो गए। इतना ही नहीं कई डीसी (डिस्ट्रिक्ट कमिश्नर) भी इन पेपरों में फेल हो गए हैं। सिविल अफसर को अगली प्रमोशन के लिए इन पेपरों को पास करना जरूरी होता है।

ए से एफ तक छह पेपरों के तहत परीक्षा
परीक्षा के तहत छह पेपरों को रखा गया था। जिसमें ए से लेकर एफ तक पेपरों के नाम दिए गए थे। कुछ समय पहले टेस्ट लिए गए। जिसका परिणाम अब आया है। हालांकि इस बात को बाहर उजागर नहीं किया गया है। लेकिन अफसरों को उनके परिणाम के बारे में जानकारी दे दी गई है। इसमें डिबकाम स्तर का अफसर फेल हो गया है। एक महिला आईएएस जोकि मौजूदा समय में प्रशासकीय सचिव तैनात हैं, उन्होंने एक पेपर दिया लेकिन उसमें भी फेल हो गईं। बाकी पांच पेपर उन्होंने दिए ही नहीं। डिबकाम स्तर के अफसर पांच पेपरों में फेल हुए हैं।

तीन डीसी सभी पेपरों में हुए फेल
इसके अलावा एक महिला प्रशासकीय अफसर और एक अन्य अफसर ने पेपर ही नहीं दिए। दो आईएएस जोकि इस समय जम्मू संभाग में बतौर डीसी तैनात हैं, वे भी सिर्फ दो-दो पेपर में पास हुए हैं। बाकी चार पेपरों में फेल हो गए हैं। तीन डीसी सभी पेपरों में फेल हो गए। इनमें से एक जम्मू और दो कश्मीर संभाग में तैनात हैं।

इस बात के सामने आने के बाद पीएससी का अफसरों के प्रति रुख सख्त हो गया है। पीएससी की ओर से सरकार को पत्र लिखकर कहा गया है कि प्रदेश में तैनात अफसरों का यह हाल है। इसलिए किसी भी अफसर को बिना परीक्षा पास किए प्रमोशन ना दिया जाए।