जम्मू-कश्मीर पर टिप्पणी करने पर भारत ने चीन को घेरा, कहा- ऐसी हरकतों से बाज आए

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा भारत चीन से यह उम्मीद करता है कि वह हमारे आंतरिक मामलों, संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता पर किसी तरह की अनर्गल टिप्पणी करने से बचे।
उन्होंने कहा, कि भारत चीन से यह उम्मीद भी रखता है कि वह सीमापार आतंकवाद की पहचान करे और निंदा करे, जो कि जम्मू-कश्मीर समेत भारत के अन्य लोगों के जीवन को प्रभावित करता है।

उन्होंने कहा, ‘हम संयुक्त राष्ट्र में चीन के स्थायी मिशन के प्रवक्ता द्वारा एक बयान में जम्मू-कश्मीर का जिक्र करने को खारिज करते हैं।’ वह चीनी प्रवक्ता के बयान पर एक सवाल का जवाब दे रहे थे।

श्रीवास्तव ने कहा, इस मुद्दे पर भारत की स्थिति से चीन पूरी तरह से वाकिफ है। केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर भारत का एक अभिन्न हिस्सा था, है और रहेगा। इससे संबंधित मुद्दे भारत के आंतरिक मसले हैं।’

उन्होंने आगे कहा, इसलिए हम उम्मीद करते हैं कि चीन समेत बाकी देश भी भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने से बचें और भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करें।