भारतीय रेलवे ने रचा इतिहास, पहली बार ट्रेन से बांग्‍लादेश भेजे गए 100 ट्रैक्‍टर

भारतीय रेलवे ने पहली बार ट्रेन से 100 ट्रैक्टर बांग्लादेश भेजकर इतिहास रच डाला है. यह जानकारी रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दी है. उन्होंने ट्वीट के जरिए बताया कि उत्‍तर प्रदेश के दादरी के कंटेनर डिपो 100 ट्रैक्‍टरों को ट्रेन पर लादा गया. इन्हें बांग्‍लादेश के बेनापोल भेजा जा रहा है. बता दें कि कोरोना महामारी के चलते भारतीय रेलवे की नियमित सेवाएं फिलहाल बंद हैं. रेलवे अभी सिर्फ 200 विशेष ट्रेनों का संचालन कर रहा है.

इसके अलावा राजधानी ट्रेनों में सफर करने वालों को बड़ी सौगात मिली है. राजधानी ट्रेनों की स्पीड बढ़ाकर 130 किलोमीटर प्रति घंटा कर दी गई है. पीयूष गोयल ने एक अन्य ट्वीट में बताया, रेलवे के मिशन रफ्तार को नई कामयाबी मिली है. नया कीर्तिमान बनाते हुए पटना-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन ने आज पहली बार 130 किमी प्रति घंटा की रफ्तार के साथ यात्रा पूरी की. सामान्य तौर पर राजधानी ट्रेनों की स्पीड 100 से 110 किमी प्रति घंटा होती है.

वहीं 25 मार्च को हुए लॉकडाउन के बाद रेलवे ने पहले श्रमिक स्पेशल, फिर एसी स्पेशल ट्रेनों के बाद विभिन्न रूटों पर 200 गाड़ियों का परिचालन शुरू किया था. अब रेलवे जेईई-नीट में शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए भी 20 जोड़ी ट्रेनें चलाने का फैसला किया है. ये स्पेशल ट्रेनें 2 से 15 सितंबर के बीच चलाई जाएंगी. इसकी घोषणा करते हुए गोयल ने कहा कि यह सुविधा नेशनल डिफेंस एकेडमी यानी एनडीए परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों के लिए भी बढ़ाई जाएगी.