जम्मू कश्मीर प्रशासन ने सभी अधिकारियों को दिए निर्देश- सख्ती से कराएं लॉकडाउन का पालन

जम्मू कश्मीर प्रशासन ने सभी डीएम और ज़िलों के पुलिस प्रमुखों को प्रदेश के सभी 77 रेड जोन में घोषित प्रतिबंधों को कड़ाई से लागू करने को कहा है. इसके साथ ही जम्मू कश्मीर में कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के लिए सरकार ने रेड ज़ोन के उचित विनियमन और चिन्हित क्षेत्रों में पूर्ण लॉकडाउन पर भी जोर दिया.

जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रह्मण्यम ने रविवार को जम्मू में एक उच्च स्तरीय बैठक में पिछले कुछ दिनों से जम्मू कश्मीर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगो की संख्या में आ रही तेज़ी के बाद इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए अपनाई जाने वाली रणनीति पर चर्चा की. इस बैठक में मुख्य सचिव ने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में कोरोना वायरस के कारण बनी स्थिति की समीक्षा करने के बाद ज़िलों के डिप्टी कमिशनरों को निर्देश दिए कि प्रदेश में चिन्हित 77 रेड ज़ोन्स में पूर्ण लॉकडाउन कराया जाए.

मुख्य सचिव ने कहा कि रेड ज़ोन्स में जिला प्रशासन और जिला पुलिस की मदद से लोगों के आने जाने पर प्रतिबन्ध लगाएं. मुख्य सचिव ने वायरस के आगे प्रसार की संभावना को कम करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा रेड जोन में आम लोगों के चलने फिरने पर दिशानिर्देशों को जल्द जारी करने के अलावा सभी रेड जोन में शत प्रतिशत डोर टू डोर सर्वे के भी निर्देश भी दिए.

बीवीआर सुब्रह्मण्यम ने रेड ज़ोन में आवश्यक आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ ही डीसी को आवश्यक वितरण की योजना बनाने को कहा ताकि लोगों को किसी भी असुविधा का सामना न करना पड़े. मुख्य सचिव ने इस बैठक में जिला प्रशासन को डॉक्टरों और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को सर्वेक्षण संबंधी कार्यों में शामिल न करने की हिदायत दी, और कहा कि उन्हें चिकित्सा कर्तव्यों का पालन करना है और इनके बजाय ऐसे सर्वेक्षणों के लिए अन्य कर्मचारियों की सहायता ली जाए. उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में एक आवश्यक उपकरण के रूप में ‘आरोग्य सेतु’ ऐप के उपयोग को बढ़ावा देने के भी निर्देश दिए.