सीमा पार ISIS हैंडलर फोन पर मुस्तकीम को दे रहा था “गूगल लोकेशन”, पूछताछ में हुए बड़े खुलासे

मुस्तकीम से पूछताछ के बाद स्पेशल सेल को पता चला है कि मुस्तकीम को गूगल लोकेशन भेजी जा रही थी और साथ ही चैट एप्लीकेशन के जरिए निर्देश मिल रहे थे. मुस्तकीम जिस बाइक पर सवार था उसके लिए उसे “गूगल लोकेशन” भेजी गई थी. मुस्तकिम जब लोकेशन पर पहुंचा तो उसे मोटरसाइकिल खड़ी मिली. जिसमें चाबी भी लगी थी.

करोल बाग की मिली थी लोकेशन
मुस्तकीम को अगली गूगल लोकेशन करोल बाग की मिली. वो रिज रोड के रास्ते करोल बाग जा रहा था. तब स्पेशल सेल ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस को अभी इस सवाल का जवाब नही मिला है कि करोल बाग में मुस्तकीम को कोई मिलने वाला था, या अगली गूगल लोकेशन मिलनी थी या फिर कोई और चैट एप्लीकेशन के जरिए इंस्ट्रक्शन.

बलरामपुर से लखनऊ गया था मुस्तकीम
सूत्रों के मुताबिक मुस्तकीम बलरामपुर से निकलने के बाद लखनऊ गया था. वहां पर गूगल लोकेशन मिलने के बाद वो गाजियाबाद के लिए निकला था. जहां से उसने मोटरसाइकिल उठाई थी. मुस्तकीम के घर से जिस तरह दो फिदायिन जैकेट और एक बेल्ट मिली है. उससे स्पेशल सेल को शक है कि मुस्तकीम के अलावा दो और फिदायिन हमलावर तैयार किए गए थे. जिन्हें मुस्तकीम ने तैयार किया था या फिर सीमा पार से कुछ होना था. इसकीं जांच में पुलिस लगी है.