जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा- कोरोना काल में अमरनाथ यात्रियों के लिए क्या हैं इंतजाम?

जम्मू एंड कश्मीर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से तेज़ी से फैल रहे कोरोना संक्रमण के बीच अमरनाथ यात्रा की तैयारियों पर रिपोर्ट तलब की है. हाई कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि अमरनाथ यात्रियों के लिए क्वारंटाइन के क्या इंतज़ाम होंगे. जम्मू में एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट की डिवीज़न बेंच में शामिल चीफ जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस विनोद चटर्जी कौल ने सरकार को नोटिस जारी कर विस्तृत रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए हैं.

हाईकोर्ट ने पूछा है कि अगर इस साल की अमरनाथ यात्रा का आयोजन किया जाता है तो इस यात्रा में देश विदेश से आने वाले संभावित कोरोना संक्रमित यात्रियों की जांच के लिए क्या इंतज़ाम किए जायेंगे. कोर्ट ने सरकार से क्वारंटाइन और इलाज सम्बंधित सारी स्थितियां साफ़ करने को कहा है. वहीं सरकार ने इस जनहित याचिका को दायर करने वाले वकील को भी धार्मिक यात्रा के आयोजनों पर हाई कोर्ट की और से जारी निर्देशों और श्री माता वैष्णों देवी और अन्य धार्मिक स्थलों पर यात्रा को लेकर सरकारी आदेशों का अध्यन कर कोर्ट को जानकारी देने को कहा है.

इस साल भोले बाबा की आरती का होगा लाइव प्रसारण

भले ही इस साल अभी तक कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण अमरनाथ यात्रा के शुरू होने की तारीखों का ऐला नहीं हुआ है. लेकिन श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने भोले बाबा के भक्तों को एक बड़ा तोहफा देने का विचार किया है. जानकारी के मुताबिक इस साल भोले बाबा की पवित्र गुफा की आरती का रोज सुबह और शाम दूरदर्शन पर लाइव प्रसारण होगा.