अमरनाथ यात्रा के लिए हेलीकाप्टर बुकिंग शुरू, कुछ ही घंटों में बिक गई दस दिनों की टिकटें

अमरनाथ यात्र के लिए बुधवार से हेलीकॉप्टर सेवा की ऑनलाइन बुकिंग शुरू हो गई। पहले ही दिन श्रद्धालुओं में ऑनलाइन बुकिंग करवाने के लिए भारी उत्साह नजर आया। हेलीकॉप्टर सेवाएं देने वाली कंपनियों की पहले दस दिनों की टिकटें कुछ घंटों में बिक गईं। ऑनलाइन बुकिंग सेवा सुबह दस बजे शुरू हुई।

15 जुलाई के बाद से हर दिन कुछ ही टिकटें उपलब्ध हैं। बोर्ड के अनुसार जिन श्रद्धालुओं के पास हेलीकॉप्टर का टिकट होगा, उसे अग्रिम पंजीकरण की जरूरत नहीं होगी। यात्र पहली जुलाई से शुरू हो रही है और 15 अगस्त को रक्षा बंधन के दिन संपन्न होगी। नीलग्रथ-पंजतरणी से प्रति सवारी एकतरफा हेलीकाप्टर किराया 1804 रुपये जबकि पहलगाम-पंजतरणी से 3104 रुपये निर्धारित किया गया है।

बोर्ड ने मैसर्स ग्लोबल वेक्ट्रा हेलीकॉप्टर लिमिटेड और मैसर्स हिमालयन हेली सर्विस प्राइवेट लिमिटेड की सेवाएं नीलग्रथ बालटाल-पंजतरणी मार्ग और मैसर्स यूटी एयर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की सेवाएं पहलगाम-पंजतरणी मार्ग के लिए प्राप्त की हैं। बालटाल रूट से किराया कम होने से श्रद्धालुओं में टिकट बुकिंग को लेकर अधिक उत्साह दिखाई दे रहा है। बोर्ड के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनूप सोनी का कहना है कि बोर्ड के पास टिकट बुकिंग को लेकर ब्योरा उपलब्ध नहीं है।

अमरनाथ के भक्तों के लिए बोर्ड ने जारी किया लंगर मेन्यू

अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने देशभर से यात्र के दौरान लंगर लगाने वाली संस्थाओं को व्यंजनों का नया मेन्यू जारी किया है। इसमें इस बार हलवा व जलेबी पर प्रतिबंध लगा दिया है। श्रइन बोर्ड ने नॉनवेज फूड्स, पान मसाला, जलेबी, स्मोकिंग, हैवी पुलाव, फ्राइड राइस, पूड़ी, भटूरा, पिज्जा, बर्गर, स्टफ परांठा, डोसा, फ्राइड रोटी, ब्रेड विद बटर, क्रीम बेस्ट फूड, अचार, चटनी, फ्राइड पापड़, चाउमीन सहित अन्य फास्ट फूड, कोल्ड ङ्क्षड्रक, गुलाब जामुन, लड्डू, खोया, बर्फी, रसगुल्ला, क्रंची स्नैक्स, चिप्स, कुरकुरे, नमकीन, मिक्सचर पकौड़ा, समोसा, फ्राइड ड्राई फ्रूट्स आदि पर प्रतिबंध जारी किया है। इसके पीछे बोर्ड का तर्क स्वास्थ्य के साथ जोड़ा गया है।

इन व्यंजनों का लगा सकते हैं लंगर : ग्रीन वेजिटेबल्स, साग, पोटैटो, न्यूट्रेला (सोया), बेसन कढ़ी, प्लेन दाल, ग्रीन सलाद, फ्रूट प्लेन, राइस जीरा, राइस सादे, खिचड़ी, न्यूट्रेल राइस, रोटी फुलका, दाल, मिस्सी रोटी, मक्की की रोटी (बिना मक्खन), तंदूरी रोटी, कुलचा, डबल रोटी, चॉकलेट, बिस्कुट, रोस्टेड चना, सांबर, ईडली, पोहा, वेजिटेबल सैंडविच (विदाउट क्रीम), ब्रेड जैम, कश्मीरी नान, हर्बल टी, कॉफी (लो फैट), शरबत, लेमन, स्क्वैश, लो फैट मिल्क, फ्रूट जूस, वेजिटेबल सूप, मिनरल वाटर, ग्लूकोस (स्टैंडर्ड पैक), खीर, दलिया, हनी, तिल के लड्डू, गच्चक, फुलियां, मखाने मुरब्बा, ड्राई पेठा, आंवला मुरब्बा, फ्रूट मुरब्बा व ग्रीन कोकोनट।

श्री अमरनाथ-बी ट्रस्ट के प्रधान भारत भूषण अग्रवाल ने बताया कि श्रइन बोर्ड ने जिन व्यंजनों पर लंगर के लिए रोक लगाई है, उनकी बिक्री कश्मीर में धड़ल्ले से जारी है। देसी घी से लेकर जलेबी व भटूरा से लेकर अन्य प्रतिबंधित सामान की बिक्री पर कोई रोक नहीं है।