J&K: जन्नत को जहन्नुम बनाने की साजिश रच रहे आतंकी, नेताओं पर हमलों के बीच भाजपा को आठ झटके

जम्मू-कश्मीर में मजबूत होती जम्हूरियत से आतंकियों में बौखलाहट है। इसी के चलते विभिन्न आतंकी तंजीमें जन्नत को जहन्नुम बनाने की साजिशें रच रही हैं। लोगों में खौफ उत्पन्न करने के लिए आतंकी संगठन नेताओं को निशाना बना रहे हैं। वहीं मुस्तैद सुरक्षाबल आतंकियों की इन साजिशों को लगातार नाकाम करने में जुटे हुए हैं।

हाल के दिनों में नेताओं पर हुए हमलों के चलते भाजपा के आठ पदाधिकारी अपना इस्तीफा दे चुके हैं। कई पदाधिकारियों ने सोशल मीडिया के जरिए इस्तीफा दिया है। इनमें भाजपा से जुड़े चरार-ए-शरीफ इलाके के प्रभारी वली मोहम्मद भट, बडगाम महासचिव इमरान अहमद पारे और गुलाम मोहिउद्दीन शाह का नाम शामिल है। 


उधर, भाजपा नेताओं पर लगातार हो रहे आतंकी हमलों के बीच रविवार को सोशल मीडिया पर एक धमकी भरा ऑडियो वायरल हुआ, जिसमें भाजपा से जुड़े पंचों-सरपंचों और अन्य लोगों को पार्टी से नाता तोड़ने की धमकी दी गई है। ऑडियो में खुद को आतंकी बताने वाला कह रहा है कि ये आखिरी चेतावनी है। बता दें कि इस ऑडियो की अभी आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हुई है।
वहीं भाजपा नेता अशोक कौल और विभोद ने रविवार को भाजपा नेता अब्दुल हमीद पर हुए हमले की निंदा करते हुए दोहराया है कि पार्टी इस प्रकार के कायराना हमलों से डरने वाली नहीं है। पार्टी कार्यकर्ता लगातार मैदान में डटे रहेंगे।

प्रदेश के राजनीतिक व वर्तमान हालात को देखते हुए रविवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना की अगुवाई में वरिष्ठ नेताओं ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से श्रीनगर राजभवन में मुलाकात भी की। सांसद जुगल किशोर शर्मा, पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह और कवींद्र गुप्ता के अलावा महासचिव अशोक कौल पर आधारित भाजपा शिष्टमंडल ने उपराज्यपाल को पदभार संभालने की बधाई दी। इसके साथ ही भाजपा कार्यकर्ताओं व नेताओं पर हो रहे हमलों के मद्देनजर सुरक्षा को और कड़ा करने पर जोर दिया।

ज्ञात हो कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्ढा से महासचिव संगठन अशोक कौल कश्मीर में भाजपा नेताओं पर आतंकी हमलों के मद्देनजर भाजपा कार्यकर्ताओं व नेताओं की सुरक्षा को और कड़ा करवाने की अपील पहले ही कर चुके हैं।