जम्मू-कश्मीरः कई स्थानीय नेताओं को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया, बढ़ते आतंकी हमलों के चलते फैसला

जम्मू-कश्मीर में बीते कुछ दिनों में स्थानीय नेताओं पर हो रहे आतंकी हमले के बाद अब सरकार ने सुरक्षा देने के लिए कदम उठाया है. सरकार ने ग्राम सभाओं से जुड़े कई नेताओं को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है, ताकि आतंकी हमलों से उन्हें बचाया जा सके. आतंकियों ने 2 दिन पहले ही कश्मीर के कुलगाम में एक बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

500 नेताओं को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया

केंद्र शासित प्रदेश में हाल के हफ्तों में सरपंचों पर हमले बढ़े हैं और कुछ नेताओं को इन हमलों में अपनी जान भी गंवानी पड़ी. इसको देखते हुए कि अब इन्हें सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 500 ऐसे नेताओं को गुरुवार से अबतक उनके घरों से हटाया जा चुका है, जिनमें ज्यादातर बीजेपी से जुड़े हैं. कश्मीर रेंज के आईजी ने विजय कुमार ने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा, “ये सिर्फ अस्थायी व्यवस्था है.”

रिपोर्ट में स्थानीय पुलिस अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि इन नेताओं को होटलों और सरकारी इमारतों में भेजा जा चुका है. उन्होंने कहा कि प्रशासन अब इस मामले में कोई मौका नहीं चूकना चाहते.

2 महीनों में 3 नेताओं की हत्या

गुरुवार 6 अगस्त को कुलगाम के काजीगुंड में बीजेपी के सरपंच सजान अहमद खांडे की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. इससे दो दिन पहले इसी जगह पर आतंकियों ने बीजेपी के ही एक और सरपंच को गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था.

इससे पहले 8 जून को आतंकियों ने अनंतनाग में कांग्रेस से जुड़े सरपंच की हत्या कर दी थी, जबकि 8 जुलाई को बांदीपोरा में एक स्थानीय बीजेपी नेता, उसके पिता और भाई की भी आतंकियों ने हत्या कर दी थी.