कश्मीर के सज्जाद भारतीय अंडर-15 फुटबॉल टीम में

यदि मन में कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो रास्ते की तमाम बाधाएं खुद ब खुद दूर हो जाती हैं। इसी बात को साबित कर दिखाया है कश्मीर के सज्जाद हुसैन पारे ने। कश्मीर में आए दिन धरना-प्रदर्शन के बावजूद सज्जाद अपने लक्ष्य से नहीं डिगा। लगातार अभ्यास जारी रखा। अपनी प्रतिभा के दम पर भारत की अंडर-15 फुटबॉल टीम में जगह बनाने में कामयाबी हासिल की है।

ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (एआइएफएफ) ने नेपाल के काठमांडू में 25 अक्टूबर से 3 नवंबर तक आयोजित होने वाली अंडर-15 फुटबॉल प्रतियोगिता के लिए 25 सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा की है। ग्रुप बी में जगह बनाने वाली भारतीय टीम का सामना चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से 25 अक्टूबर और भूटान से 29 अक्टूबर को होगा। शुवींदु पांडा को टीम का हेड कोच बनाया गया है। भारतीय टीम में जगह बनाने वाले कश्मीर के डिफेंडर सज्जाद हुसैन पारे, कुशांग शुब्बा, अब्दुल हनान, तानचोक हांग सुब्ब, इवान थापा, अंकित टूपो, तंकाधर बाग, लालपीखलुआ जोंगटे, लाल¨रगसांगा सैम्युअल, लालरामपाना पाउतु, शुभो पाल, नगामिनलन खोंगसाई, फ्रेडी चवांगथनसांग, जान शे¨रग लीचपा, चवांगहलुट लालचानहिमा, हर्ष शैलेश पात्रे, अमन, आर्य गंधर्व, पुरुषोत्तम कीरकीता, वनलालरुतफीला, दिपेश चौहान, संतोष ¨सह, इ¨रगबाम और फ्रीविनो फर्नांडीज को चुना गया है।

राज्य के अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर अरुण मल्होत्रा सहित जम्मू-कश्मीर फुटबॉल एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सज्जाद को भारतीय टीम में चयन होने पर मुबारकबाद दी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि वह बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर टीम में अपनी जगह पक्की बनाने में कामयाब रहेगा। उन्होंने बताया कि राज्य में प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की कमी नहीं है। अगर उन्हें उचित प्लेटफार्म और आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाए तो भविष्य में राज्य के कई खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करवा सकते हैं। जम्मू-कश्मीर स्टेट स्पो‌र्ट्स काउंसिल द्वारा भी राज्य में जगह-जगह स्टेट फुटबॉल एकेडमी खोली गई हैं। इसका मुख्य उद्देश्य खिलाड़ियों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए तैयार करना है। इन एकेडमी में छोटे-छोटे प्रतिभाशाली बच्चों की पहचान कर उन्हें ट्रे¨नग दी जाती है।