जम्मू-कश्मीर: राज्यपाल ने कहा- BJP नेता के हत्यारों की पहचान हुई, जल्द सामने होंगे नतीजे

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार को कहा कि किश्तवार में वरिष्ठ भाजपा नेता अनिल परिहार और उनके भाई अजीत परिहार की हत्या के पीछे लोगों की पहचान हो गई है और जल्द ही इसके नतीजे सामने होंगे। मीडिया के लोगों से बात करते हुए राज्यपाल ने कहा कि दोनों हत्याएं आतंकवादियों ने की थीं। हत्यारों की पहचान की गई है और जल्द ही उन्हें इसके लिए सजा दी जाएगी।

मलिक ने यह भी कहा कि पिछले दो महीनों से आतंकवादियों में निराशा थी, जिस कारण ये हत्याएं हुईं। देश के लोगों ने देखा है कि शहरी स्थानीय निकाय चुनाव के सभी चार चरण घाटी में किसी भी हत्या के बिना पूरा हुए।

गुरुवार शाम वरिष्ठ भाजपा नेता और उनके भाई जब अपनी दुकान बंद कर घर लौट रहे थे तो टप्पल गली क्षेत्र में अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। इसके बाद वहां कर्फ्यू लगा दिया गया। प्रशासन ने किश्तवाड़ में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी थीं। हत्या की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है और उसे जांच तेज करने तथा जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं। किश्तवाड़ जिले के पद्दार और छत्रू उप संभागों में मुख्य शहर और भद्रवाह समेत डोडा जिले से कर्फ्यू हटा दिया गया है लेकिन कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए एहतियाती कदम के तौर पर इन इलाकों में सीआरपीसी की धारा 144 लागू है।

मलिक ने कहा कि सुरक्षाबलों का मनोबल ऊंचा है, वे आतंकवादियों को पंचायत चुनावों में बाधा नहीं डालने देंगे।