जम्मू-कश्मीर : शहीद सैनिक के अंतिम संस्कार से कुछ घंटे पहले पत्नी ने बच्ची को जन्म दिया

जम्मू-कश्मीर में शहीद सैनिक के अंतिम संस्कार से कुछ घंटे पहले ही उसकी पत्नी ने एक बच्ची को जन्म दिया. पीटीआई के मुताबिक रविवार को शहीद हुए लांस नायक रणजीत सिंह का मंगलवार को जम्मू स्थित उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया. इससे कुछ घंटे पहले उनकी पत्नी ने एक बच्ची को जन्म दिया. रणजीत सिंह की शादी दस साल पहले हुई थी और यह उनकी पहली संतान है.

लांस नायक रणजीत सिंह जम्मू-कश्मीर लाईट इंफैंट्री के उन तीन जवानों में से एक थे, जो रविवार को राजौरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी घुसपैठियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गये थे.

पीटीआई के मुताबिक सोमवार को तिरंगे में लिपटा 36 वर्षीय रणजीत सिंह का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव सुलीगाम लाया गया. लेकिन, देर हो जाने की वजह से परिवार ने मंगलवार सुबह अंतिम संस्कार करने का फैसला किया.

सैन्य अधिकारियों ने न्यूज़ एजेंसी को बताया कि सोमवार देर रात को उनकी गर्भवती पत्नी सीमू देवी को प्रसव पीड़ा होने लगी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. मंगलवार सुबह पांच बजे शहीद की पत्नी ने एक बच्ची को जन्म दिया.

अधिकारियों के मुताबिक सुबह सीमू को अपने पति का अंतिम दर्शन कराने के लिए नवजात शिशु के साथ शमशान घाट ले जाया गया और इसके बाद पूरे सैन्य सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया.

शहीद सैनिक रणजीत सिंह के पड़ोसी विजय कुमार पीटीआई से कहते हैं, ‘रणजीत ने अपनी पहली संतान के जन्म के लिए दस साल तक इंतजार किया, लेकिन विधाता को अंत में कुछ और ही मंजूर था.’